Tokyo Paralympic 2021 | भारत ने पहली बार रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक 2020

Tokyo Paralympic 2021 टोक्यो पैरालंपिक 2020 में भारत इतिहास रचा अब तक कुल 2 स्वर्ण, 5 रजत और 3 कांस्य पदक अपने नाम किया। अब तक का पैरालंपिक में भारत का सबसे ज्यादा पदक जीतने का इतिहास है।

Tokyo Olympics 2020

इससे पहले टोक्यो में खेले गये टोक्यो ओलंपिक 2020 में भी भारत का अच्छा प्रदर्शन रहा है। भारत ने 1 गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 कांस्य पदक जीतकर अंक तालिका में 48वां स्थान प्राप्त किया। नीरज चोपड़ा जेवलिन थ्रो ने स्वर्ण, भारोत्तोलक में मीराबाई चानू और रेसलर रवि कुमार दहिया ने सिल्वर और पी.वी. सिन्धु, बंजरंग पुनिया, लवलीना बोरगोहेन और पुरुष हॉकी टीम ने भी यादगार प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया।

Neeraj Chopra Biography in Hindi | नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

टोक्यो पैरालंपिक2020 में पदक विजेता

1.भाविना पटेल

Tokyo Paralympic 2021
भाविना पटेल

भाविना पटेल भारत की पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी है। उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक 2020 टेबल टेनिस में सिल्वर मैडल जीता था। वह टेबल टेनिस में मैडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी है। भाविना पटेल की जीवनी पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

2. निषाद कुमार

nishad kumar Tokyo Paralympic 2021 | भारत ने पहली बार रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक 2020
निषाद कुमार

टोक्यो पैरालंपिक 2020 एथलीट निषाद कुमार ने पुरुषों के टी-47 हाई जंप में पहले प्रयास में 2.02 मीटर की जंप लगाई तथा दूसरे प्रयास में 2.06 मीटर की जंप लगाई। और भारत की झोली में रजत पदक डाल दिया।

3. अविनी लखेरा

Tokyo Paralympic 2021
अविनी लखेरा

अविनी लखेरा टोक्यो पैरालंपिक2020 में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी है। उन्होंने पैरालंपिक महिला आर-2 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मैडल जीता, इस प्रकार पैरालंपिक में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गयी है। 19 वर्षीय एयर पिस्टर सूटर में 246.6 अंक हासिल कर विश्व रिकार्ड की बराबरी की। इस प्रतियोगिता में चीन की झांग कुइपिंग को रजत और यूक्रेन की इरियाना शेतनिक को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

4. योगेश कथुनिया

Tokyo Paralympic 2021
योगेश कथुनिया

योगेश कथुनिया पैरा डिस्कस थ्रो से संबंध है, उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक में 56 किग्रा में रजत पदक अपने नाम किया। उन्होंने छठे और अन्तिम प्रयास में 44.38 मीटर थ्रो कर श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। डिस्कस थ्रो में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन ब्राजील के बतिस्ता डॉस सैंटोस क्लॉडनी ने 45.25 मीटर थ्रो कर गोल्ड मेडल जीता था। वहीं क्यूबा के डियाज अल्दाना लियोनार्डो ने 43.36 मीटर थ्रो कर तीसरे स्थान पर रहे। और कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

5. सुमित अंतिल

Tokyo Paralympic 2021
सुमित अंतिल

एथलीट सुमित अंतिल ने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में गोल्ड मैडल अपने नाम किया। सुमित अंतिल एफ-64 वर्ग (जेवलिन थ्रो) में भारत को दूसरा गोल्ड दिलाया। सुमित अंतिल नें 68.55 मीटर जेवलिन थ्रो कर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। ऑस्ट्रेलिया के मिचाल बुरियन ने 66.9 मीटर जेवलिन थ्रो कर रजत पदक और श्रीलंका के डुलान कोडिथुवाक्कू (65.61 मीटर) थ्रो कर कांस्य पदक जीता।

Tokyo Paralympic 2021

“द्वंद्व कहाँ तक पाला जाए,

युद्ध कहाँ तक टाला जाए,

तू भी राणा का वंशज,

फेंक जहाँ तक भाला जाए”

6. देवेन्द्र झाझरिया

Tokyo Paralympic 2021
देवेन्द्र झाझरिया

दो बार पैरालंपिक में स्वर्ण जीतने वाले देवेंद्र झाझरिया ने अपना प्रदर्शन जारी रखा। टोक्यो पैरालंपिक 2020 में शानदार प्रदर्शन करते हुए पैरा जेवलिन थ्रो (एफ 46 वर्ग) में 64.35 मीटर थ्रो कर रजत पदक अपने नाम किया। श्रीलंका के दिनेश प्रियान हेरान ने 67.79 मीटर थ्रो कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

7. सुंदर सिंह गुर्जर

Tokyo Paralympic 2021
सुंदर सिंह गुर्जर

सुंदर सिंह गुर्जर ने एफ-46 वर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया है। सुंदर सिंह ने टोक्यो पैरालंपिक में पुरुष में 64.01 जेवलिन थ्रो फेंका। जो इस सत्र का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। सुंदर जेवलिन थ्रो के अलावा डिस्कस थ्रो और शाटपुल में भी पारंगत है। 2017 में दुबई में खेले गये इंटरनेशनल एथलेटिक्स ग्रां प्री में सुंदर ने तीनों स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था।

8. सिंहराज

Tokyo Paralympic 2021
सिंहराज

सिंहराज ने टोक्यो पैरालंपिक में 10 मीटर पिस्टल शूटिंग में एसएच-1 वर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया। सिंहराज ने फाइनल में 216.8 स्कोर कर तीसरा स्थान प्राप्त किया। पहले स्थान पर चीन के यांग चाओ (237.9 मी.) थ्रो कर स्वर्ण पदक और हुआंग जिंग (237.5मी.) थ्रो कर कांस्य पदक जीता था।

9. मरियप्पन थंगावेलु

थंगावेलु and शरद कुमार Tokyo Paralympic 2021 | भारत ने पहली बार रचा इतिहास, टोक्यो पैरालंपिक 2020
मरियप्पन थंगावेलु and शरद कुमार

मरियप्पन थंगावेलु ऊँची कूद से संबंधित है। उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में टी-63 वर्ग में रजत जीता है। उन्होंने 1.86 मीटर ऊँची छलांग लगाकर यह कारनामा अपने नाम किया। पैरालंपिक में लगातार उनका यह दूसरा मैडल है। 2016 रियो पैरालंपिक में उन्होंने गोल्ड मैडल जीता था। टोक्यो पैरालंपिक में पहले स्थान पर अमेरिका के सैम ग्रेव (1.88 मीटर) की छलांग लगाकर गोल्ड मैडल अपने नाम किया।

10. शरद कुमार

टोक्यो पैरालंपिक 2020 में पुरुषों की ऊँची कूद टी-63 वर्ग में शरद कुमार ने कांस्य पदक अपने नाम किया। शरद ने 1.83 मीटर ऊंची कूद में श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। एक अन्य भारतीय वरुण सिहं भाटी इस प्रतिस्पर्धा में सातवें स्थान पर रहें, उन्होंने 2016 रियो पैरालंपिक में भारत के लिए कांस्य पदक जीता था।

इसे भी पढ़ेः-

International Literacy day in Hindi | विश्व साक्षरता दिवस 2021, World Literacy day 2021

International Day of Charity in Hindi | अंतर्राष्ट्रीय चैरिटी दिवस क्यों मनाया जाता है? International Day of Charity 2021

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles