Sunday, November 28, 2021

Tokyo Olympics 2020|भारत की गोल्ड-सिल्वर की उम्मीद खत्म, कांस्य पदक की उम्मीद

Tokyo Olympics 2020 भारत के स्टार रेसलर बजरंग पुनिया सेमीफाइनल में हार कर बाहर हो गये। लेकिन अभी उनसे कांस्य पदक उम्मीद की जा रही है। सेमीफाइनल में उनका मुकाबला अज़रबैजान के हाजी एलियेव से हुआ था जिन्होंने 12-5 से बजरंग पुनिया को पराजित कर फाइनल में जगह बनायी।

Tokyo Olympics 2020  Bajrang Punia

सेमीफाइनल के मुकाबले के पहले पीरियड में ही बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) 1-4 से पीछे हो गये। पुनिया जी इस अन्तर को कम नहीं कर सके। हाजी एलियेव ने एक दांव लगाकर बजरंग पुनिया को 7-1 से पीछे कर दिया। उसके बाद बजरंग पुनिया ने एक दांव लगाकर और दो अंक बटोरे। और 7-4 से पीछे थे।

अन्तिम पीरियड में हाजी एलियेव काफी आक्रामक दिखे और अन्त तक उन्होंने 12-5 की बढ़त बनाकर फाइनल के लिए क्वालीफाइ किया।

बजरंग पुनिया का सेमीफाइनल का सफर

बजरंग पुनिया ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ईरान के पहलवान मुर्तजा चेका घियासी को हराया। बजरंग ने यह मैच 2-1 से जीत लिया। उन्हें Byfall से विजेता घोषित किया गया है।

Winner Byfall kya hai

Winner Byfall उसे कहते जब कोई पहलवान अपने प्रतिद्वद्धी पहलवान को मैट पर दोनों कन्धा एक सेकेन्ड के लिए लगा देता है तो उसे विजेता घोषित कर दिया जाता है।

बजरंग ने सेमीफाइनल में जगह बना ली है. वह इस मैच के दौरान शुरुआत में 0-1 से पीछे चल रहे थे। बजरंग ने पहले दौर में रक्षात्मक खेल खेला। उसके खिलाफ एक निष्क्रिय घड़ी शुरू की गई लेकिन बजरंग घबराया नहीं।

निष्क्रिय घड़ी क्या है?

निष्क्रिय घड़ी उसे कहते है जब एक पहलवान को 30 सेकेंड का समय दिया जाता है। अगर वह इस 30 सेकेंड में एक भी अंक नहीं कर पता है तो प्रतिद्वंद्वी पहलवान को एक अंक दे दिया जाता है।

वह दूसरे दौर में बजरंग पुनिया रक्षात्मक दिखे, जबकि ईरान के मुर्तजा ने हमला जारी रखा। हालांकि बजरंग भी उन्हें दांव लगाने का कोई मौका नहीं दे रहे थे। लेकिन जब उन्हें दोबारा पेनल्टी प्वाइंट गंवाने से बचने के लिए 30 सेकेंड का समय दिया गया तो बजरंग को आक्रामक होना पड़ा।

नतीजा यह हुआ कि उसका पैर पकड़कर फंसाने की कोशिश कर रहा मुर्तजा उसकी ग्रिप में आ गया। बजरंग ने इस मौके का पूरा फायदा उठाया और पहले दो अंक हासिल किए। इसके बाद उन्होंने मुर्तजा को उलट कर और अपने कंधों को नीचे करके मैच का अंत किया। बजरंग पुनिया को Winner Byfall घोषित कर दिया गया और उन्होंने मुकाबला 2-1 से जीत लिया।

भारत को गोल्ड का मौका Tokyo Olympics 2020

Tokyo Olympics 2020
Tokyo Olympics 2020

भारत की स्टार गोल्फ खिलाड़ी अदिति अशोक ने गोल्फ में भारत को गोल्ड मैडल दिला सकती है। इस गोल्फ में दूसरे पायदान पर है। तीसरे राउड में उन्होंने दूसरा स्थान प्राप्त किया अगर टोक्यो में मौसम खराब होता है भारत को सिल्वर मैडल मिल सकता है। और यदि चौथा राउड हुआ तो भारत को गोल्ड मैडल का खाता खुल सकता है। फाइनल मुकाबला 7 अगस्त (शनिवार) को खेला जायेगा।

FAQ’s

Q. Winner Byfall kya hai (Winner Byfall क्या है?)

Ans: Winner Byfall उसे कहते जब कोई पहलवान अपने प्रतिद्वंद्वी पहलवान को मैट पर दोनों कन्धा एक सेकेन्ड के लिए लगा देता है।

Q. बजरंग पुनिया किस खेल से संबंधित है?

Ans: बजरंग पुनिया रेसलर यानी कि कुश्ती से सम्बन्धित है।

Q.बजरंग पुनिया कितने किलोग्राम भार में खेलते है?

Ans:- 65 किलोग्राम

Q. बजरंग पुनिया की उम्र क्या है?

Ans: 26 साल 

Q. अदिति अशोक किस खेल से संबंधित है?

Ans: गोल्फ से संबंधित है।

Q. अदिति अशोक की उम्र क्या है?

Ans: 23 साल 

Read Also:-

Tokyo Olympic Women Hockey live 2020|भारतीय महिला हॉकी टीम कांस्य पदक से चुकी

Sirisha Bandla Biography in hindi, Parents, Husband, सिरीशा बंदला की आत्मकथा

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles