Sunday, November 28, 2021

Nehru Trophy Boat Race 2021 in Hindi| नेहरू ट्रॉफी बोट रेस 2021

Nehru Trophy Boat Race 2021 in Hindi नेहरू ट्रॉफी बोट रेस, हर वर्ष अगस्त माह के दूसरे शनिवार को आयोजित होती है,इस वर्ष (2021) में 14 अगस्त को आयोजित की जायेगी। जिसमें एक बड़ी नाव और रंगीन प्रतियोगिता में विशाल, प्रतिष्ठित सांप नौकाओं को देखा जाता है, राज्य के सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षणों में से एक बन गई है। दुर्भाग्य से, वर्तमान में केरल में सभी त्योहार COVID-19 के कारण स्थागित कर दिए गए हैं।

1952 से, पुन्नमदा झील भारत की सबसे लंबी झील है। जहाँ लंबे, काले डोंगी में नाविक टीमें केरल के समुद्री की पुरानी स्मृति में एक दूसरे के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करती हैं। नेहरू ट्रॉफी बोट रेस एक पुरानी परंपरा का हिस्सा है जो मसालों के व्यापार के एकाधिकार को लेकर राष्ट्रों के बीच प्रतिद्वंद्विता को दर्शाती है। चुंडम वल्लम या स्नेक बोट कहलाने वाली, डोंगी में 100 से 150 विशेषज्ञ नाविक होते हैं और नाव 38 मीटर तक लंबे होते हैं, जो खेल में सबसे बड़े पानी के जहाजों का रिकॉर्ड रखते हैं।

Nehru Trophy Boat Race 2021 in Hindi

हालांकि यह सबसे लोकप्रिय खेल है, नेहरू ट्रॉफी नाव दौड़ उस अवधि में आयोजित होने वाली एकमात्र नाव दौड़ नहीं है। बल्कि यह खेल हजारों दर्शकों को आकर्षित करता है, जहां हजारों दर्शक नाव दौड़ के अलावा सजी हुई नौकाओं, शानदार झांकियों और औपचारिक जल जुलूसों को देखने के लिए आते हैं और उत्सव का भी हिस्सा बनते हैं।

Nehru Trophy Boat Race 2021 in hindi
Nehru Trophy Boat Race 2021 in hindi

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस की दौड़ में पुरुष और महिला दोनों नाविक भाग लेते हैं। और नाव गीत की धुन पर एक-दूसरे के साथ तालमेल बिठाने के लिए कठिन प्रशिक्षण लेते हैं, जिसे वंचिप्पातु कहा जाता है। पुराने समय में, देवी-देवताओं के साथ भक्ति को नावों में ले जाया जाता था, जबकि आजकल नौका दौड़ के आयोजन में धार्मिक और सांस्कृतिक तत्वों को दर्शाते हैं।

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस क्या है

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस केरल में आयोजित होने वाली सबसे बड़ी नौका प्रतिस्पर्धा है। जिसमें केरल के अलाप्पुझा शहर के पास पुन्नमदा झील के किनारे यह प्रतिस्पर्धा करायी जाती है। जिसमें केरल के अलाप्पुझा शहर के नाविक (पुरुष और महिला) भाग लेते है। इसे देखने के लिए देश तथा विदेशों के पर्यटक इस उत्सव में भाग लेते है। स्थानीय क्षेत्र के लोग इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेते है। नेहरू ट्रॉफी बोट रेस प्रतिस्पर्धा में जो नाविक जीतते है उन्हें रजत ट्रॉफी से सम्मानित किया जाता है।

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस की शुरुआत Nehru trophy boat race history

Nehru trophy boat race history नेहरू ट्रॉफी बोट रेस की शुरआत 1952 में हुई। इसकी शुरुआत भारत के पहले प्रधान मंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरू के स्वागत के लिए केरल के अलाप्पुझा शहर के पास पुन्नमदा झील के किनारे नौका दौड़ हुई। नेहरू जी इससे काफी प्रभावित हुए और सुरक्षा प्रोटोकॉल तोड़ कर नाव पर सवार हो गये। दिल्ली आने के बाद उन्होंने लोगों का आभार प्रकट करने के लिए एक सिल्वर ट्रॉफी से लोगों को सम्मानित किया।

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस 2021 कब है Nehru trophy boat race date

Nehru trophy boat race date नेहरू ट्रॉफी बोट रेस 14 अगस्त 2021 को है। यह प्रत्येक वर्ष अगस्त माह से दूसरे शनिवार आयोजित होती है। इस साल दौड़ का 68वां संस्करण का आयोजन किया जा रहा है। केरल में इसकी तैयारियां शुरु हो गयी।

Nehru trophy boat race 2020 winner

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस 2020 ( Nehru trophy boat race 2020 winner ) के विजेती पल्लथुरुथी बोट क्लब द्वारा पंक्तिबद्ध नादुभागम चंदन (स्नेकबोट) ने शनिवार को यहां पुन्नमदा झील पर आयोजित नेहरू ट्रॉफी बोट रेस के 67वें संस्करण को जीत लिया।

यूनाइटेड बोट क्लब की ओर से चम्पाकुलम चंदन पंक्तिबद्ध, कैनाकारी दूसरे स्थान पर रहा। करीचल चंदन (पुलिस बोट क्लब) और देवास चंदन (एनसीडीसी बोट क्लब, कुमारकोम) तीसरे और चौथे स्थान पर रहे।

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस देखने कैसे पहुंचे

अगर आप नेहरू ट्रॉफी बोट रेस देखने के इच्छुक है तो आप को केरल राज्य जाना होगा। यदि हवाई जहाज से जाना चाहते है तो आप को कोच्ची हवाई अड्डा पर उतरना होगा। कोच्ची हवाई अड्डे से 85 किलोमीटर दूर अलाप्पुझा शहर है। जो कार द्वारा एक घंटे की दूरी है।

नेहरू ट्रॉफी बोट रेस के अवसर पर अलाप्पुझा शहर तक एक स्पेशल ट्रेन भी चलायी जाती है। जो पुन्नमदा झील के लिए लगभग 7 किमी दूरी पर है। जबकि अलाप्पुझा का रेलवे स्टेशन चंपाकुलम में नदी से लगभग 26 किमी दूर है। इस प्रकार आप ट्रेन से भी जा सकते है। उत्सव का आनन्द ले सकते है।

अरनमुला उत्तरतादि वल्लमकली: नावों के इस आश्चर्यजनक कार्निवल का धार्मिक अनुष्ठान आपको मंत्रमुग्ध कर देगा जब पारंपरिक पोशाक पहने नाविक अरनमुला की पंबा नदी के शांत पानी पर अपनी सांप नौकाओं को घुमाते हैं। जिसे देखकर मन आनंदित हो जाता है।

FAQ’s

Q. नेहरू ट्रॉफी बोट रेस 2021 कब है?

Ans : 14 अगस्त 2021 (शनिवार)

Q. नेहरू ट्रॉफी बोट रेस क्यों मनायी जाती है?

Ans : स्वर्गीय पूर्व प्रधान मंत्री जवाहर लाल नेहरू की पहली यात्रा की याद में केरल राज्य में मनाया जाता है।

Q. नेहरू ट्रॉफी किस खेल से है?

Ans : बोट रेस से संबंधित है।

Read Also:-

International left handers day 2021

e-RUPI kya hai|e-RUPI 2021 in Hindi

Neeraj Chopra Biography in Hindi|नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय, Javelin Throw in Hindi, Tokyo Olympic 2021

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles