Sunday, November 28, 2021

World Ozone day 2021 | विश्व ओज़ोन दिवस 2021, वर्ल्ड ओज़ोन डे

ओज़ोन परत के संरक्षण के लिए हर वर्ष 16 सितम्बर को विश्व ओज़ोन दिवस मनाया जाता है। ओज़ोन दिवस मनाने के उद्देश्य लोगों का इसके प्रति ध्यान आकर्षित करना है। ओज़ोन संरक्षण के लिए कनाडा में 1987 में मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल (कनाडा सम्मेलन में पारित) पर 36 देशों ने हस्ताक्षर किया। जिसे 1 जनवरी, 1989 से प्रभावी हुआ।

ये भी पढ़ेः- T20 World Cup 2021 | भारत ने किया टीम का एलान, शिखर टी20 वर्ल्ड कप से बाहर

World Ozone day 2021 (विश्व ओज़ोन दिवस 2021)

World Ozone day 2021 पृथ्वी पर कार्बन के उत्सर्जन को लेकर विश्व के संगठनों की चिन्ताएं बढ़ाने लगी। जिससे वायुमंडल में स्ट्रैटोस्फियर के मध्य में स्थित ओज़ोन क्षरण होना की समस्या सामने आयी। इसी लिए ओज़ोन क्षरण के प्रति लोगों को जागरूक करने लिए हर वर्ष 16 सितम्बर 1995 से अन्तर्राष्ट्रीय ओज़ोन दिवस मनाने की शुरुआत की। इस वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय ओज़ोन दिवस 16 सितम्बर, 2021 गुरुवार को मनाया जायेगा।

ओज़ोन परत क्षरण होने से पृथ्वी का क्या होगा

ओज़ोन परत एक ऑक्सीजन (O3) अणुओं से मिलकर बना है। जिसे पृथ्वी का सुरक्षा कवच कहा जाता है। ओज़ोन परत वायुमंडल के समताप मंडल के मध्य में पाया जाता है। ओज़ोन परत सूर्य से आने वाली हानिकारक पराबैंगनी किरणों को पृथ्वी तक पहुंचने से रोकता है। जिससे पराबैंगनी किरणों से होने वाली घातक बीमारी से सुरक्षा करता है। सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणें ऑक्सीजन के साथ मिलकर 4-5 मीटर मोटी एक ओज़ोन परत बना लेती है। जो पृथ्वी को सुरक्षा प्रदान करती है।

वैज्ञानिक मानते है कि ओज़ोन के बिना पृथ्वी पर जीवन अस्तव्यस्त हो जायेगा। ओज़ोन परत वायुमंडल के समताप मंडल में बनता है। ओज़ोन परत न होने से लोगों, जीव-जन्तु, पौधे के जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। ओज़ोन परत के क्षरण से पानी के नीचे रहने वाले जीव और पौधे को भी नुकसान होगा। दैनिक जीवन में भी अस्त-व्यस्त हो जायेगा। सर्दियों में भी गर्म मौसम हो जायेगा।

विश्व ओज़ोन दिवस इतिहास(world ozone day history)

कनाडा के मॉन्ट्रियल शहर में 16 सितम्बर 1987 ओज़ोन छिद्र को लेकर चिन्ता के निवारण के लिए बैठक हुई जिसमें 31 देशों ने भाग लिया। इस बैठक को मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल नाम दिया गया। 1 जनवरी 1989 से प्रभावी हुआ। और निर्णय लिया गया कि ओज़ोन को प्रभावित करना वाली गैस CFC, CO2 के उत्सर्जन को कम किया जाये। इस प्रोटोकॉल का लक्ष्य वर्ष 2050 तक ओजोन परत को नुकसान पहुंचाने वाले रसायनों पर नियंत्रण करना है।

ओज़ोन के प्रति लोगों जागरूक करने के लिए पहली बार 16 सितम्बर 1995 से विश्व ओज़ोन दिवस मनाया गया। वर्तमान समय में 196 देश शामिल है।

World Ozone day 2021 Theme

World Ozone day 2021 Theme हर वर्ष लोगों को ओज़ोन क्षरण के प्रति जागरूक करने के लिए एक थीम जारी की जाती है। विश्व ओज़ोन दिवस 2021 थीम अभी जारी नहीं किया गया है। जैसे विश्व ओज़ोन दिवस की थीम – Montreal Protocol “keeping us our food, and vaccines cool”

2020 की थीम – “जीवन के लिए ओज़ोन: ओज़ोन परत संरक्षण के 35 वर्ष”।
2019 की थीम – “32 साल और चिकित्सा (32 years and healing)”।
2018 की थीम – “सूर्य के नीचे जीवन भर की देखभाल”।
2016 की थीम – “ओज़ोन और जलवायु – विश्व द्वारा पुनर्स्थापित”
2015 की थीम – “30 साल – हमारी ओज़ोन का एक साथ इलाज करना”
2014 की थीम – “ओज़ोन परत संरक्षण – मिशन चल रहा है”
2013 की थीम – “ओज़ोन दिवस – एक स्वस्थ वातावरण जो हम भविष्य में चाहते हैं”
2012 की थीम – “आने वाली पीढ़ियों के लिए हमारे वातावरण की रक्षा करना”
2011 की थीम – “HCFC फेज़-आउट: एक अनूठा अवसर”
2010 की थीम – “ओज़ोन परत संरक्षण: शासन और अनुपालन”

विश्व ओज़ोन दिवस कैसे मनाया जाता है

1995 से वर्ल्ड ओज़ोन डे मनाने की शुरुआत हुई। ओज़ोन परत की कमी के प्रति जागरूक करने तथा उसे संरक्षण करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। इस दिन हानिकारक गैसों के उत्सर्जन को कम करने के लिए देश को जागरूक किया जाता है। पर्यावरण को बढ़ाने की बात की जाती है। वृक्ष लगाओ जैसे कार्यक्रम चलाये जाते है।

World Ozone day 2021
World Ozone day 2021

ओज़ोन परत के क्षरण के प्रति जागरूक करने के लिए हर वर्ष 16 सितम्बर को एक सम्मेलन बुलाया जाता है। इसके लिए एक थीम जारी की जाती है।

विश्व में इसे अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। कुछ देश इस दिन वृक्ष लगाते है। तो कुछ देश सीएफसी गैसों के उत्सर्जन को कम करने के लिए सड़कों पर जाकर नारे लगाते है।

ओज़ोन संरक्षण के उपाय

ओज़ोन क्षरण को रोकने के लिए देश में अधिक से अधिक पेड़ लगाना चाहिए। उन पदार्थों के उत्सर्जन को कम करना होगा जिससे ओज़ोन परत का क्षरण हो रहा है।

अग्निशामक यंत्र खरीदने से पहले लोगों को उनका परीक्षण करना चाहिए, लोगों को क्लोरोफ्लोरोकार्बन युक्त एरोसोल उत्पाद खरीदने से बचना चाहिए। धीरे-धीरे सभी को 1990 के दशक से रेफ्रिजरेटर, फ्रीजर और एयर कंडीशनर का उपयोग कम करना चाहिए। 2050 तक इन वस्तुओं का प्रयोग भी कम करना होगा।

भारत जैसे विकासशील देश को निजी वाहन की ड्राइविंग पर रोक लगानी चाहिए। पर्यावरण को सुन्दर बनाने के लिए वृक्ष लगाने चाहिए। तथा ऐसे उत्सर्जन को बढ़ाना चाहिए जिससे जिससे कार्बन का उत्सर्जन कम हो।

भारत तथा विश्व को इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देना चाहिए। देश में अच्छी-अच्छी सड़कों का निर्माण करना चाहिए। सड़कों पर हर 25 या 50 किलोमीटर की दूरी पर चार्जिंग सुविधा उपलब्ध करानी चाहिए। सड़क के दोनों तरफ वृक्षारोपड़ किया जाये, जिससे ओज़ोन क्षरण को रोका जा सके। World Ozone day 2021

कोयला से बिजली उत्पादन को कम करना चाहिए। जिससे कार्बन का उत्सर्जन कम हो। तथा सोलर पॉवर को बढ़ावा देने चाहिए।

निष्कर्ष

पृथ्वी हमारे आने वाले लोगों की धरोहर है। इसे सुरक्षित रखना हमारा कर्तव्य है। पृथ्वी से ओज़ोन क्षरण को रोकने के लिए हमें विचार और इस पर चर्चा करनी चाहिए। यह पृथ्वी हमें अपने पूर्वजों से मिली है। इसे सुरक्षित रखना हमारा कर्तव्य है। कि हम इसे सुरक्षित रखे। यह आज एक विशाल आयाम में मौजूद नहीं है लेकिन यदि इस पर काबू नहीं पाया गया तो यह विकासशील और विकसित देशों के लिए कुछ गंभीर विनाश का कारण हो सकता है। विश्व ओज़ोन दिवस लोगों के बीच बड़ा मंच प्रदान करता है।

FAQ’s

Q. विश्व ओज़ोन दिवस कब मनाया जाता है?

Ans : विश्व ओज़ोन दिवस 16 सितम्बर को मनाया जाता है।

Q. वर्ल्ड ओज़ोन डे कब मनाया जाता है?

Ans : वर्ल्ड ओज़ोन डे 16 सितम्बर को मनाया जाता है।

ये भी पढ़ेः-

Thalaivi : 10 सितम्बर शुक्रवार को सिनेमा घरों में रिलीज हुई

International day of democracy | अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2021

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles