Sunday, November 28, 2021

International day of democracy | अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2021

International day of democracy हर वर्ष 15 सितम्बर को विश्व लोकतंत्र दिवस मनाया जाता है। लोकतंत्र का मतलब न कोई राजा, न कोई गुलाम सब एक समान। अर्थात जनता की मर्जी और जनता के द्वारा चुनी गयी सरकार। जनता के पास वोट का अधिकार होता है वह जिसे चाहे सत्ता पर बैठा सकता है या हटा सकता है। कोई तानाशाही सरकार नहीं होता है।

Read Also:- Engineer day 2021 in Hindi | इंजीनियर्स डे 2021 | अभियंता दिवस पर कविता | मोक्षमुंडम विश्वेश्वरैया जीवन परिचय

International day of democracy History

2007 में संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस मनाने की घोषणा की गयी। पहली बार 15 सितम्बर, 2008 को विश्व लोकतंत्र दिवस मनाया गया। कई देशों के नागरिकों ने लोकतंत्र लाने के लिए आंदोलन किए हैं। दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र देश भारत है। क्योंकि यहां 60 करोड़ से ज्यादा लोग अपने मत का प्रयोग कर सरकार चुनते है। इसी लिए भारत को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र कहा जाता है।

पूरी दुनिया में दो तरह के लोकतंत्र है एक संसदीय प्रणाली तथा दूसरा राष्ट्रपति शासन। भारत, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, कनाडा में संसदीय प्रणाली है तथा अमेरिका में राष्ट्रपति शासन प्रणाली व्यवस्था है। राष्ट्रपति शासन में देश के सारे निर्णय राष्ट्रपति द्वारा लिया जाता है। जब कि संसदीय प्रणाली राष्ट्रपति नाममात्र का होता है। उसे एक रबड़ की महर की तरह प्रयोग किया जाता है।

भारत में संसदीय प्रणाली व्यवस्था है। भारत में संघ और राज्य का एक ही संविधान है। जिसके द्वारा भारत की जनता शासित होती है।

विश्व लोकतंत्र मनाने का उद्देश्य

International day of democracy अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस मनाने का उद्देश्य लोगों अपने अधिकार और स्वतंत्रता के प्रति जागरूक करना है। लोगों को उनके वोट की शक्ति के बारे में जागरूक करना है। जनता अपने वोट के पॉवर से किसी देश की सरकार को हटा सकती है। नई सरकार बना सकती है। अगर लोकतंत्र की बात करें तो भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र देश है। जहां पर देश के सभी नागरिक को वोट देने का अधिकार है। तथा अपनी पसंद की सरकार बनाने की स्वतंत्रता है।

भारत में विभिन्न प्रकार के धर्म को मानने वाले लोग निवास करते है। उन्हें अपने धर्म को मानने, प्रचार-प्रसार करने की स्वतंत्रता है। भारतीय संविधान में धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लेख मैलिक अधिकार में किया गया है।

अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2021 मनाने का उद्देश्य उन लोगों को भी जागरूक करना हैं जहां अभी तक लोकतांत्रिक सरकार नहीं है। वहां पर अभी राजतंत्र है। अर्थात राजा की सरकार है। जो जनता द्वारा नहीं चुने जाते है अर्थात वंशागत होते है। ऐसे देश, सउदी अरब, ईरान, इराक तथा कुछ अन्य मध्य एशियाई देश शामिल है। जहां लोकतंत्र नहीं है।

प्रसिद्ध विचारक अब्राहम लिकंन ने इसकी परिभाषा देते हुए कहा था कि लोकतंत्र का मतलब होता है, जनता द्वारा जनता का शासन।  फिर भी, जहाँ तक लोकतंत्र की परिभाषा का प्रश्न है अब्राहम लिंकन की परिभाषा – लोकतंत्र जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा शासन – प्रामाणिक मानी जाती है। लोकतंत्र में जनता ही सत्ताधारी होती है, उसकी अनुमति से शासन होता है, उसकी प्रगति ही शासन का एकमात्र लक्ष्य माना जाता है।

International day of democracy
International day of democracy

International day of democracy 2021 theme

हर 2020 अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2020 की थीम (International day of democracy 2020 theme)  “COVID-19: A Spotlight on Democracy” रखा गया है। जिसका उद्देश्य कोविड-19 महामारी में लोकतंत्र पर एक स्पॉटलाइट विषय रखा गया था।

अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2021 की थीम ( International day of democracy 2021 theme ) अभी तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा जारी नहीं की गयी है जैसे 2021 की थीम जारी की जायेगी हम आप तक पहुचाने की कोशिश करेंगे।

FAQ’s

Q. विश्व लोकतंत्र दिवस कब मनाया जाता है? 

Ans : अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 15 सितम्बर को मनाया जाता है।

Q. अन्तर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस 2021 का थीम क्या है?

Ans : ज्ञात नहीं है।

ये भी पढ़ेः- T20 World Cup 2021 | भारत ने किया टीम का एलान, शिखर टी20 वर्ल्ड कप से बाहर

Hindi Diwas 2021 | Hindi diwas , हिन्दी दिवस कब है?

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles