Thursday, June 30, 2022

World Blood Donor Day 2022 | जानिए किस उम्र में रक्तदान करना चाहिए।

World Blood Donor Day 2022 in Hindi: 14 जून आते ही हमारे दिमाग में रक्तदान करने की इच्छा जाहिर होती है। कि अब से हर वर्ष रक्तदान करेंगे। लेकिन 14 जून के जाते ही भूल जाते है। इसीलिए लोगों को जागरूक करने के लिए हर वर्ष 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जाता है। इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा चिह्नित किया गया। यह आठ स्वास्थ्य अभियानों में से एक है।

Read Also:- Asthma Disease in Hindi | दमा के कारण, उपचार और रोकथाम के तरीके।

World Blood Donor Day 2022 (विश्व रक्तदान दिवस)

प्रत्येक वर्ष 14 जून को Vishv Raktadaan divas मनाया जाता है। इस वर्ष यानि 2022 में विश्व रक्तदान दिवस 14 जून, मंगलवार को मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा चिह्नित आठ स्वास्थ्य अभियानों में से एक है। इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस दिन को विश्व रक्तदान दाता दिवस के रूप में घोषित किया।

History of World Blood Donor Day

विश्व रक्तदान दिवस कार्ल लैंडस्टीनर के जन्मदिन के अवसर पर मनाया जाता है। कार्ल लैंडस्टीनर का जन्म 14 जून 1868 को हुआ था। वह एक ऑस्ट्रियाई जीवविज्ञानी और चिकित्सक थे। उन्होंने 1900 में ABO रक्त समूह की खोज की थी। जिन्हें चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इस दिवस का आयोजन पहली बार 2004 में विश्व स्वास्थ्य संगठन और द इंटरनेशनल फेडरेशन द्वारा किया गया था। 2005 में विश्व स्वास्थ्य संगठन की 58वीं बैठक में 192 देशों द्वारा विश्व रक्तदान दिवस को आधिकारिक रूप से मान्यता दी गई थी।

जिसका उद्देश्य रक्तदान सुरक्षित होने के साथ-साथ आवश्यक व्यक्ति को रक्त की पूर्ति होती है। जिससे किसी व्यक्ति का जीवन बचाया जा सकता है। इसीलिए कहा जाता है, “रक्तदान महादान”

विश्व रक्तदान दिवस का उद्देश्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन का उद्देश्य 2020 तक पूरे विश्व को स्वैच्छिक और अवैतनिक रक्तदान को प्रोत्साहित करना तथा जरूरत मंदों तक सुरक्षित रक्त पहुँचा।

World Blood Donor Day 2022
World Blood Donor Day 2022

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आँकड़े के अनुसार 62 देश ऐसे है जो स्वैच्छिक और अवैतनिक रक्तदान करते है। 40 देश ऐसे है जो अपने परिवार, रिस्तेदार, दोस्त या पैसे के लिए रक्तदान करते है।

इस अभियान के तहत हर साल लाखों लोगों की रक्त की जरूरतों को पूरा करके उनके जीवन को बचाया जाता है। जिससे उनका जीवन खुशहाल बन सके।

गर्भवती महिलाओं, प्रसव के दौरान अत्यधिक रक्तस्राव, गंभीर दुर्घटना,शैल्य चिकित्सा रोगियों, कैंसर रोगियों जैसे जरूरतमंद लोगों को रक्तदान किया जाता है।

इस अभियानों के माध्यम से गर्भवती महिलाओं की देखरेख महान रक्षक की तरह काम करते है। हर साल, कुपोषित गर्भधारण, प्रसव संबंधी जटिलताओं और प्रसव के दौरान या बाद में अत्यधिक रक्तस्राव के कारण मातृ मृत्यु होती है। उस समय विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अवैतनिक रक्त दाता को रक्त की जरूरतों को पूरा करने के लिए मां और बच्चे, जो कि किसी भी देश का भविष्य है, को बचाने के लिए ऐसा अभियान चलाया जाता है।

रक्तदान करने की उम्र और वजन क्या होना चाहिए?

WHO के मानको के अनुसार रक्तदान कर्ता 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुका हो। तथा उसके शरीर का वजन 50 किलोग्राम या इससे अधिक होना चाहिए। तथा एक बार रक्तदान करने के बाद दूसरे रक्तदान के बीच 3 महा का अंतर होना चाहिए तथा महिलाओं में 4 माह का अंतर होना चाहिए।

कौन-कौन से व्यक्ति को रक्तदान नहीं करना चाहिए?

1. गर्भवती महिला
2. एड्स मरीजों
3. ब्लड कैंसर
4. अस्वास्थ्य
5. लम्बे समय से किसी बीमारी की चपेट में हो
6. 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चे

World Blood Donor Day Theme 2022 in Hindi

World Blood Donor Day 2022: हर साल अलग-अलग थीम या स्लोगन जारी किया जाता है। थीम के माध्यम से लोगों को रक्तदान के प्रति जागरूक करना है। इस वर्ष यानि 2022 की थीम- “Donating blood is an act of solidarity. Join the effort and save lives” (“रक्तदान करना एकजुटता का कार्य है। प्रयास में शामिल हों और जीवन बचाएं ”) यह स्लोगन उन भूमिकाओं की ओर ध्यान आकर्षित करता जो स्वैच्छिक रक्तदान जीवन बचाने और समुदायों के भीतर एकजुटता बढ़ाने में निभाते हैं।

इस वर्ष के अभियान के विशिष्ट उद्देश्य हैं

1. दुनिया में रक्त दाताओं को धन्यवाद देना और नियमित, अवैतनिक रक्तदान की आवश्यकता के बारे में व्यापक जन जागरूकता पैदा करना;
2. पर्याप्त आपूर्ति बनाए रखने और सुरक्षित रक्त आधान के लिए सार्वभौमिक और समय पर पहुंच प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध, साल भर रक्तदान की आवश्यकता पर प्रकाश डालना;
3. सामुदायिक एकता और सामाजिक एकता को बढ़ाने में स्वैच्छिक अवैतनिक रक्तदान के मूल्यों को पहचानना और बढ़ावा देना;
4. एक स्थायी और लचीला राष्ट्रीय रक्त प्रणाली बनाने और स्वैच्छिक गैर-पारिश्रमिक रक्त दाताओं से संग्रह बढ़ाने के लिए सरकारों से बढ़े हुए निवेश की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाना।

FAQ’S

Q. Vishv Raktadaan divas kab manaya jata hai?

Ans: 14 June

Q. World Blood Donor Day Theme 2022 in Hindi.

Ans: “Donating blood is an act of solidarity. Join the effort and save lives”

Q. विश्व रक्तदान दिवस 2022 की थीम क्या है?

Ans: “रक्तदान करना एकजुटता का कार्य है। प्रयास में शामिल हों और जीवन बचाएं ”|

Read Also:-

Instagram Par Followers Badhane Wala App | जिसका इस्तेमाल कर आप Followers और Like बढ़ा सकते है।

DCARDFEE kya hota hai? और DCARDFEE का फुलफॉर्म क्या होता है? DCARDFEE kya h?

Test Tube Baby in Hindi | IVF के द्वारा नि:संतानता को है हराना।

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,372FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles