Test Tube Baby in Hindi | IVF के द्वारा नि:संतानता को है हराना।

Test Tube Baby in Hindi: बढ़ती टेक्नोलॉजी के जरिए असम्भव कार्य भी सम्भव हो रहा है। जहाँ लोग चाँद के बारे में जानते तक नहीं थे। आज लोग चाँद पर कदम रख रहे है। इस बढ़ती टेक्नोलॉजी के चलते जहाँ लोग पहले संतान सुख के बिना जीवन बीता लेते थे। लेकिन आज आईवीएफ के माध्यम से संतान सुख पा रहे है। इस पोस्ट में हम आपको आईवीएफ क्या है? कितना खर्चा लगता है? इसकी प्रक्रिया क्या है? आईवीएफ का अर्थ क्या है? इन सब सवालो का जबाव जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

Read Also:- Height Kaise Badhaye | 30 दिनों में बढ़ सकती है 2-4 इंच हाइट। अगर आप करते है ये 5 काम।

Test Tube Baby in Hindi (टेस्ट ट्यूब बेबी का अर्थ क्या है।)

निःसंतानता इन दिनों महिला-पुरुषों में बड़ी चिन्ता बनती जा रही है। आधुनिक समय में चिकित्सा ने इन समस्यों से उभरने के लिए कृत्रिम गर्भधारण की तकनीक विकसित की है। जिसे आईवीएफ यानि इन विट्रो फर्टिलाइजेशन कृत्रिम गर्भाधान तकनीक कहते है।

आईवीएफ की प्रक्रिया

आईवीएफ यानि इन विट्रो फर्टिलाइजेशन कृत्रिम गर्भाधान तकनीक है। इस तकनीक से निःसंतान दंपती को संतान सुख पा सकते है। इस तकनीक में महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म को लैबोरेट्री में निषेचन कराया जाता है। फर्टिलाइजेशन के बाद महिला के गर्भ में स्थान्तरित कर दिया जाता है। इस प्रक्रिया को टेस्ट ट्यूब बेबी कहते है। 70-80% महिलाओं को दवाओं से संतान का सुख पा सकते है। 20-30% महिलाओं को टेस्ट ट्यूब बेबी की जरूरत पड़ती है। (Test Tube Baby in Hindi)

टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्चा क्या है? (test tube baby cost)

अलग-अलग अस्पातलों का खर्च अलग-अलग होता है। आईवीएफ का न्यूनतम खर्चा 1.5 लाख अधिकतम 4.5 लाख रुपये का खर्च आता है। आईवीएफ के द्वारा गर्भाधान के लिए महीने में 3 से 4 बार अस्पताल जाना पड़ता है।

Test Tube Baby in Hindi
Test Tube Baby in Hindi

इसकी क्या जरूरत है?

महिलाओं की अधिक उम्र में शादी, प्रोफेशन के चलते देरी से फैमिली प्लानिंग, खान-पान का सही न होना, हाइजीन में कमी, नौकरी का तनाव, बच्चेदानी के आस-पास सूजन, जागरूकता का आभाव का कारण है। पुरुषों में स्पर्म कांउट की कमी होना गर्भधारण करने में समस्या होती है।

आईवीएफ के तहत महिला-पुरुष दोनों की प्रमुख जांच की जाती है। महिलाओं में एफएसएच, एलएच, टीएसएच आदि जैसे प्रजनन हार्मोन से संबंधित परीक्षणों के साथ-साथ गर्भाशय और जननांगों की स्थिति जानने के लिए सोनोग्राफी की जाती है। आनुवंशिक परीक्षण और अंडे की गिनती (एएमएच) परीक्षण के अलावा, पुरुष में वीर्य विश्लेषण किया जाता है और स्पर्म काउंट किया जाता है। बीपी, किडनी और लीवर की जांच कराएं।

IVF के लाभ

यदि नियमित शारीरिक संबंध बनाने के बाद भी गर्भधारण नहीं हो नहीं हो पाता है। बहुत से टेस्ट होने के बाद आईवीएफ की सहायता से गर्भधारण कराया जाता है।

Indira IVF Fertility Centre

इंदिरा आईवीएफ की स्थापना 1988 में Dr. Ajay Murdia द्वारा की गयी थी। भारत में वर्तमान समय 100 अस्पातल सुचारू रुप से कार्य रहे है। इस संस्था ने 1 Lakh दम्पती को संतान का सुख दिया है। इसका टोल फ्री नम्बर – 18003092323 (not sponsored)

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इंदिरा आईवीएफ संस्था के नाम संस्था चल रही है। जहाँ निःशुल्क परामर्श सुविधा उपलब्ध है। और यदि आप इस सुविधा का लाभ लेना चाहते है तो ईएमआई के माध्यम लाभ उठा सकते है।

Read Also:-

Giving hands Solutions in Hindi | आप बन सकते है 1 माह में करोड़पति। जानिए क्या है इसका प्लान।

Motapa kaise kam kare | Weight Loss tips | मोटापा (वजन) कम करने के 10 उपाय।

National Technology Day 2022 | जानिए नेशनल टेक्नोलॉजी डे का इतिहास और महत्व

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles