Lakhimpur Khiri Case | प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने रास्ते में रोका। क्या है पूरा मामला।

Lakhiakhimpur Khiri Case शनिवार को लखीमपुर खीरी में किसान प्रदर्शन के दौरान केन्द्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की कार से कथित तौर पर रौंद कर निकल गयी है। जिसमें चार किसानोंं की मृत्यु हो गयी। वहीं, भड़की हिंसा के दौरान चार और लोगों की मृत्यु हो गयी, पूरी हिंसा में 8 लोगों की जान जा चुकी है। हिंसा के दौरान 4 किसान, 3 बीजेपी और एक पत्रकार की मृत्यु हो गयी है। इस हिंसा के बाद भी किसान आन्दोलन जारी है। आंदोलन के दौरान मृत्यु किसान का शव सड़क पर रखकर चक्का जाम किया है।

ये भी पढ़ेः- International Animal day in Hindi | अन्तर्राष्ट्रीय पशु दिवस 2021, विश्व पशु दिवस क्यों मनाया जाता है?

Lakhimpur Khiri Case लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मृत्यु परिवार से मिलने जा रहे विपक्ष नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को रास्ते में पकड़कर नजर बन्द कर दिया गया। कांग्रेस कार्यकर्ता के अनुसार प्रियंक गांधी रात 10 बजे लखनऊ पहुंची, यहां से सीधे प्रियंका गांधी अपने लखनऊ स्थित कौल आवास पहुंची। माना जा रहा है कि प्रियंका गांधी को वहीं नज़र बन्द कर लिया गया। प्रियंका के आवास पर 150 सुरक्षा कर्मी और 100 से अधिक महिला कांस्टेबल को रखा गया है।

बताया जा रहा है कि हिंसा में मरने वाले व्यक्ति के परिवार को 45-45 लाख रुपये तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी प्रदान की जायेगी। इसके अलावा घायलों को 10-10 लाख रुपये आर्थिक मदद दी जायेंगी। तथा पूरे मामले की जाँच हाई कोर्ट के रिटायर जज निगरानी में की जायेगी।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, “पहले केन्द्रीय राज्य मंत्री के नाम एफआईआर हो। तथा 10-11 दिन में मामले की जांच करके अपराधी को सज़ा दी जाये। अगर तय समय के अन्दर कार्यवाही नहीं की गयी तो हम महा पंचायत करेंगे। अन्तिम दह संस्कार तक हम यहीं रहेंगे। शव का पोस्टमार्डम पांच डॉक्टरों तथा कैमरे की निगरानी में हो।

क्या है पूरा मामला (Lakhimpur Khiri Case)

Lakhimpur Khiri Case किसान नेता का आरोप है कि केन्द्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा ने किसानों पर गाड़ी चड़ा दी जिसमें चार किसान की मौत हो गयी। साथ ही कई घायल हो गये। वहीं अजय मिश्रा ने प्रेस कॉनफेन्स में बताया कि किसान हिंसा में 3 भाजपा कार्यकर्ता और एक ड्राइवर की मौत हो गयी है।

दरअसल, यूपी के उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्या का लखीमपुर खीरी में दौरा था। जिसे अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा उन्हें रिसीव करने जा रहे थे किन्तु रास्ते में किसान आन्दोलन चल रहा था। और उन्हें रास्ते में रोक लिया गया, और काला झण्डे से स्वागत किया गया इस बीच कुछ छड़प हो गयी। और हिंसा बढ़ने लगा। Lakhimpur Khiri Case

केन्द्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा का बयान आया है कि हादसे के वक्त मेरा बेटा वहां मौजूद नहीं था। फिलहाल स्थिति को काबू में कर लिया गया है।

सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव किसान पीड़ित परिवार से मिलने लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गये है। जाते हुए उन्हें रास्ते में रोक लिया गया था।

ये भी पढ़ेः-

Mumbai Cruise Drug Bust | NCB ने आर्यन खान समेत सभी 8 लोगों को किया गिरफ्तार | Aryan Khan Biography in Hindi

Bhavina Patel Biography In Hindi | Parents, Husband, भाविना पटेल ने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में रचा इतिहास

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,321FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles