International Mine awareness day in Hindi | जानिए हर वर्ष कितने लोगों की मौत खदान में होती है?

International Mine awareness day in Hindi: प्रत्येक वर्ष 4 अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय खदान जागरूकता और खदान कार्य सहायता दिवस मनाया जाता है। लोगों को लैंडमाइन्स से होना वाले खतरे, बीमारी, स्वास्थ्य और जीवन से संबंधित परेशानियों के प्रति जागरूक करना है। जानिए इसका इतिहास और खदान में काम करने से कौन सी बीमारी होती है?

Read Also:- Yogi Minister’s list 2022 | योगी ने लगातार दूसरी बार ली मुख्यमंत्री पद की, केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठन ने ली उप मुख्यमंत्री…

International Mine awareness day in Hindi

संयुक्त राष्ट्र ने हर वर्ष 4 अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय खदान जागरूकता और खदान कार्य सहायता दिवस मनाने की शुरुआत हुई। इस मनाने का उद्देश्य लोगों को खदान में हो रहे लैंडमाइन की वजह से स्वास्थ्य बीमारी जैसे दमा, सिलिकोसिस जैसी जानलेवा बीमारी होती है। इसका उद्देश्य उन देशों की खदानों की क्षमता करना और विकसित करने में सहायता करना तथा खदानों और विस्फोटक युद्ध अवशेष सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा पैदा करते हैं।

History of International Mine awareness day

संयुक्त राष्ट्र महासंघ ने 8 दिसम्बर 2005 को जनरल असेंबली ने 4 अप्रैल को विश्व खदान जागरूकता और खदान कार्य सहायता दिवस मनाने की घोषणा की। पहली बार यह विश्व खदान जागरूकता दिवस 4 अप्रैल 2006 को मनाया गया था।

International Mine awareness day in Hindi
International Mine awareness day in Hindi

खदान से होने वाले रोग (बीमारी)

खदान में रहने वाले मजदूर को सिलिकोसिस और फेफड़े से संबंधित बीमारी होने का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। राजस्थान के जोधपुर और मकराना के पत्थर की खदान में न्यूमोकोनियोसिस बीमारी हो जाती है जिससे मरीज को खांसी के साथ खून भी आने लगता है। पिछले कुछ वर्ष में राजस्थान में कई मजदूरों ने अपनी जान गवाई है जिससे राजस्थान की महिलाओं की स्थित काफी खराब है।

खदान में काम करते हुए हर वर्ष लाखों लोगों की जान चली जाती है।

International Mine awareness day Theme 2022

हर वर्ष की तरह इस वर्ष यानि 2022 विश्व खदान जागरूकता दिवस की थीम “सेफ ग्राउंड, सेफ स्टेप्स, सेफ होम”(“Safe Ground, Safe Steps, Safe Home.” ) रखा गया है जो 1992 में स्थापित और सम्मानित किए गए लैंडमाइन्स (आईसीबीएल) पर प्रतिबंध लगाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय अभियान के काम से शुरू होकर, वैश्विक खदान कार्रवाई समुदाय की प्रभावशाली उपलब्धियों पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

FAQ’s

Q. विश्व खदान जागरूकता दिवस कब मनाया जाता है?

Ans : 4 April

Q. खदान से होने वाली बीमारी का नाम क्या है?

Ans : सिलिकोसिस, फेफड़े संबंधित तथा न्यूमोकोनियोसिस बीमारी होती है।

Q. International Mine awareness day Theme 2022 in Hindi.

Ans : “सेफ ग्राउंड, सेफ स्टेप्स, सेफ होम”(“Safe Ground, Safe Steps, Safe Home.” )

Q. विश्व खदान जागरूकता दिवस की शुरुआत कब हुई?

Ans : 4 April 2006

Q. विश्व खदान जागरूकता दिवस मनाने की घोषणा कब हुई?

Ans : 8 दिसम्बर 2005

Read Also:-

World Autism Awareness day 2022 in Hindi | जानिए विश्व ऑटिज़्म का लक्षण और प्रभाव

Good Friday 2022 date | Good Friday in Hindi| जानिए गुड फ्राइडे का महत्व

Prevention of Blindness week 2022 | अगर आप ये 5 काम करते हैं तो 70 साल की उम्र तक बरकरार रहेगी आंखों की रोशनी

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles