Train to Busan movie review in Hindi | ट्रेन टू बुसान फिल्म रिव्यू

Train to Busan movie review in Hindi ट्रेन टू बुसान वर्ष 2016 की दक्षिण कोरियाई एक्शन हॉरर फिल्म है जो येओन सांग-हो द्वारा निर्देशित है यह फिल्म आठ करेक्टर के आस-पास घूमती है। ये आठ करेक्टर गोंग यू, जंग यू-मील, मा, डोंग-सोक, किम सु-एन, चोई वू-शिक, आह सो-ही और किम यूई-सुंग ने अभिनय किया था।

Table of Contents

ट्रेन टू बुसान फिल्म रिव्यू

फंड मैनेजर सोक-वू जो एक सनकी और तलाकशुदा अपने एक बेटी सु-अन और माँ के साथ सियान में रहता है। सु-अन का जन्मदिन होता है जो अपनी माँ के साथ मनाना चाहती है। जो उससे दूर बुसान में रहती है। सु-अन स्कूल प्रतियोगिता में एक गाना “अलोहा ओ ओ” गाती है जो अधूरा रहता है। उसका यह गाना उसके पिता एक विडियो में देखते है।

उसके पिता जी उसके जन्मदिन पर एक गिफ्ट देते है। वह अपना जन्मदिन अपनी माँ के साथ मनाना चाहती है। ऑफिस में काम की वजह से मना कर देते है, लेकिन जिद करने पर मान जाते है। और बुसान जाने के लिए तैयार हो जाते है। दोनों 101 नम्बर टैक्सी से सियान स्टेशन जाते है।

Train to Busan movie

Train to Busan movie review in Hindi
Train to Busan movie review in Hindi

Read Also:- Urfi Javed | उर्फी जावेद ने ट्वीटर पर पोस्ट की ऐसी फोटो फैंस हुए काफी नारज, जाने क्या कहा उर्फी जावेद ने अपने फैंस…

जहाँ अन्य यात्रियों में संग-ह्वा और उनकी गर्भवती पत्नी सेओंग-किओंग, सीओओ योन-सुक, योंग-गुक और उनकी चीयरलीडर प्रेमिका जिन-ही, बुजुर्ग बहनें इन-गिल और जोंग-गिल सहित एक हाई स्कूल बेसबॉल टीम और एक दर्दनाक बेघर शामिल हैं। जो बाथरुम में छुप जाता है। जब ट्रेन छूटने वाली होती है एक बीमार युक्ती पर ध्यान न जाने पर वह ट्रेन में घुस जाती है। वह एक वायरस से प्रभावित होती है। जिससे वह जोंबी बन जाती है। वह एक स्टाफ को काट लेती है जिससे वह भी संक्रमण से प्रभावित हो जाती है। यह वायरस काटने से फैलता है।

धीरे-धीरे पूरी ट्रेन में फैलने लगता है।
जहाँ एक समूह दूसरी तरफ जाता है दरवाजा बंद कर लेता है। तभी इंटरनेट और फोन के माध्यम से इस वायरस के बारे में पता चलता है। तभी हेडक्वाटर से वायरलेस कॉल के माध्यम से एनाउसमेंट होता है कि यह ट्रेन सिरनन स्टेशन पर नहीं रुकेगी। थोड़ी देर बाद एनाउंसमेंट होता है कि यह ट्रेन डेजॉन स्टेशन पर रुकेगी।

Train to Busan movie review in Hindi
Train to Busan movie review in Hindi

तभी सोक-वू को फोन आता है कि इस वायरस के पीछे उसकी कंपनी परोक्ष रुप से शामिल है। डेजॉन स्टेशन पर उतरने के बाद पता चलता है कि यह स्टेशन भी वायरस से प्रभावित हो चुका है। सभी लोग वापस ट्रेन की ओर जाते है, और भगदड़ में अलग हो जाते है। अलग होने के बाद फोन से आपस में बात करते है और मिल जाता है।

जिसके बाद सोक-वू, बेटी और अपने साथियों के साथ सुरक्षित स्थान पर जाने चाहते है। जहां उन्हें रोक दिया जाता है लेकिन दरवाजा तोड़कर किसी तरह से अन्दर आ जाते है। कुछ यात्रियों ने कहा कि जो लोग अभी-अभी आये है वे सभी दूसरी बोगी में चले जाये। तो सभी लोग दूसरी बोगी में चले जाते है।

तभी जोंग-गिल अपनी बहन की कुर्बानी से नाराज होकर जानबूझ कर दरवाजा खोल देती है। जिससे सभी लोग संक्रमित हो जाते है। योन-सुक और एक ट्रेन परिचारक बाथरूम में छिपकर भाग निकले। ईस्ट डेगू ट्रेन स्टेशन पर अवरूद्ध होने के कारण बचे हुए लोगों को दूसरी ट्रेन से बुसान जाना चाहता है तभी एक आग लगी ट्रेन से टकराकर बड़ा हदसा हो जाता है।

Train to Busan movie review in Hindi
Train to Busan movie review in Hindi

जिससें सोक-वू के सभी लोगों एक ट्रेन से बाल-बाल जाते है। लोकोपयलट दूसरी ट्रेन लेकर आता है योन-सुक की मदद के लिए नीचे उतरता है। । तभी जोंबी उस पर हमला करता है। जोंबी योन-सुक पर हमला कर देता है। लेकिन वह ट्रेन पर चढ़ जाता है। जहां सोक-वू अपनी बेटी और गर्भवती महिला के साथ ट्रेन पर चढ़ता है तो देखता है कि योन-सुक भी जोंबी बदलने वाला होता है तभी वह मदद के लिए भीख मांगता है। सोक-वू उसे फैकने वाला होता है तभी उसे काट लेता है सोक-वू उसे नीचे फैक देता है।

सेओंग-किओंग को ट्रेन चलाना सिखाता है, और लोकोमोटिव से खुद को फेंकने से पहले अपनी बेटी को अलविदा कहता है। एक अन्य ट्रेन रुकावट के कारण, सु- एन और सेओंग-किओंग को बुसान से ठीक पहले एक सुरंग पर ट्रेन को रोकने के लिए मजबूर हो जाती है। दोनों ट्रेन से बाहर निकलती हैं और सुरंग के माध्यम से पैदल पटरियों का अनुसरण करती है। सुरंग के दूसरी तरफ स्निपर्स तैनात हैं और वे जो जोंबी मानते हैं उस पर शूट करने के लिए तैयार हैं, लेकिन जब वे सु-एक गायन “अलोहा ओ ओ” सुनते हैं तो वे अपने हथियार हटा लेते है।

Read Also:-

World Pi day 2022 in Hindi | जाने क्यों मनाया जाता है विश्व पाई दिवस। गणित में इसका क्या महत्व है।
National Safety Day 2022 | राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस सप्ताह के इतिहास, महत्व, उद्देश्य और विषय को जानिए

World Sleep Day 2022 : पूरी दुनिया में नींद की समस्या है। जिसके चलते लोगों को जागरूक करने के लिए वर्ल्ड स्लीप डे मनाया…

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles