Sunday, November 28, 2021

Tokyo Olympic Javelin Throw भाला फेक के फाइनल में नीरज चोपड़ा ने जगह बना ली है।

Tokyo Olympic Javelin Throw भारत के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो के ग्रुप-ए क्वालीफिकेशन में 83.5 मीटर की प्रतियोगिता में 86.65 मीटर थ्रो कर पहला स्थान प्राप्त किया। भारत को गोल्ड मेंडल उम्मीद नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो के फाइनल में जगह पक्की कर ली। फाइनल क्वालिफिकेशन ग्रुप-ए और ग्रुप-बी के 12 खिलाड़ियों में प्रथम स्थान हासिल किया है।

Tokyo Olympic Javelin Throw
Tokyo Olympic Javelin Throw

ओलम्पिक इतिहास में अब तक कोई भी भारतीय एथलीट जेवलिन थ्रो में कोई मेंडल नहीं जीता है। अब जीत की उम्मीद भारतीय स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने जगायी है।

4 अगस्त को हुए क्वालीफिकेशन मुकाबले में 86.65 मीटर भाला फेक कर पहले प्रयास में फाइनल में जगह बनायी। और भारत को पदक की उम्मीद दिलायी।

Tokyo Olympic Javelin Throw नीरज चोपड़ा के कोहनी की चोट और कोविड-19 की महामारी ने उनके अभ्यास को काफी प्रभावित किया लेकिन नीरज चोपड़ा ने अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया।

Tokyo Olympic Javelin Throw । भाला फेंक

बुधवार को 23 वर्षीय भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा ने पहले प्रयास में 86.65 मीटर भाला फेंक कर फाइनल में जगह बनायी। फाइनल में क्वालीफिकेशन के लिए मात्र 83.50 मीटर की आवश्यकता थी।

क्वालीफिकेशन के लिए तीन प्रयास दिये जाते है किन्तु नीरज चोपड़ा ने पहले प्रयास में क्वालीफाई कर लिया, उन्होंने बाकी दो प्रयास न करने का फैसला लिया। क्वालीफिकेशन के लिए तीन प्रयास दिये जाते है जिसमें सबसे अच्छे प्रयास को लिया जाता है।

पूर्व विश्व जूनियर चैंपियन नीरज चोपड़ा 16 खिलाड़ियों के ग्रुप-ए में शीर्ष पर रहे। उनका व्यक्तिगत और सीज़न का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 88.07 मीटर है, जो उन्होंने यह रिकार्ड मार्च 2021 में पटियाला में इंडियन ग्रां प्री 3 में बनाया गया था।

खिताब के दूसरे दावेदार

नीरज चोपड़ा ने 86.65 मीटर जेवलिन थ्रो फेंक कर पहला स्थान प्राप्त किया। रियो ओलम्पिक में चौथे स्थान पर रहे इस वर्ष टोक्यो ओलम्पिक में प्रबल दावेदार माने जा रहे जर्मन के स्टार खिलाड़ी जोहानेस वेटर (85.64 मीटर) और फिनलैंड के लेसी एटलेटालो (84.50 मीटर) भी क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहते हुए 83.5 मीटर क्वालीफिकेशन में स्थान हासिल करने में सफल रहे। भारतीय स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा इन पर भारी रहे। (Tokyo Olympic Javelin Throw)

दुनिया के नम्बर एक जर्मनी खिलाड़ी वेटर ने दूसरे प्रयास में तथा फिनलैंड के लेसी एटलेटालो ने तीसरे प्रयास में ये कारनामा किया।

भारतीय सेना के चोपड़ा कोहनी की चोट और कोविड के कारण 2019 से 2020 तक अभ्यास नहीं कर सके लेकिन उनके इस प्रदर्शन से नहीं लगता है कि नीरज जी अपने खेल से एक साल दूर रहे हो।

हमवतन शिवपाल सिंह ने किया निराश

Tokyo Olympic Javelin Throw ग्रुप-बी में शिवपाल सिंह ने भारतीय दर्शकों को निराश किया है ग्रुप – बी में उन्हें 16 स्थान प्राप्त हुआ है। उन्होंने अपने पहले प्रयास में 76.4 मीटर , दूसरे प्रयास में 74.8 मीटर और तीसरे प्रयास में 74.81 की दूर तय की। क्वालीफाई के लिए 83.5 मीटर रखा गया था। जो इसके आस-पास तक नहीं पहुंच सके। तथा अब फाइनल की दौड़ से बाहर का रास्ता देखना पड़ा।

Read Also:-

Nag Panchami kab hai 2021 | नाग पंचमी का तारीख

Man Tokyo Olympics Hockey| पुरुष हॉकी के सेमी फाइनल में बेल्जियम ने भारत को पराजित किया।

International left handers day 2021

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles