Thursday, June 30, 2022

National Youth Day 2022 |जाने क्यों मनाया जाता है, राष्ट्रीय युवा दिवस

National Youth Day 2022 : आज यानि 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस पूरे देश में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। 12 जनवरी स्वामी विवेकानन्द के जन्म-दिवस के रुप में राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर मनाया जाता है। विश्व भर के दार्शनिकों एवं माँकों में से स्वामी विवेकानन्द का जन्म 12 जनवरी 1863 को हुआ था। भारत सरकार ने 12 जनवरी, 1984 राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की घोषणा की।

ये भी पढ़ेः- Happy New Year Wishes 2022 | नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं , हैप्पी न्यू ईयर

National Youth Day 2022 (राष्ट्रीय युवा दिवस)

देश में बढ़ती युवा आबादी को देखते हुए भारत सरकार ने 12 जनवरी 1984 से राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की घोषणा की थी। तभी से हर वर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की शुरुआत हुई। राष्ट्रीय युवा दिवस भारत के महान दार्शनिक स्वामी विवेकानन्द की जन्म-दिवस के दिन मनाया जाता है। इसे मनाने का उद्देश्य स्वामी विवेकानन्द के विचारों को युवाओं तक पहुंचाया जा सके।

आज यानि 12 जनवरी, 2022 दिन बुधवार को पूरे देश में बड़ी धूम-धाम से राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जायेगा।

स्वामी विवेकानंद युवाओं को समाज सुधार, उच्च विचार और उदार सोच के मार्गदर्शक के रूप में प्रेरित करते हैं। दर्शनशास्त्र, धर्म, उपशास्त्र, वेद, पुराण और निषाद की अच्छी समझ समाज सुधारक और ज्ञान गुरु स्वामी विवेकानंद की ऐसी स्थिति है जो आज के जीवन से प्रभावित है।

* उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।

* मेरा विश्वास युवा पीढ़ी, आधुनिक पीढ़ी में है। वे सिंह की भांति सभी समस्याओं से लड़ सकते हैं।

National Youth Day (राष्ट्रीय युवा दिवस)

स्वामी विवेकानन्द को “भारत का राष्ट्रीय संत” कहा जाता है। स्वामी विवेकानन्द भारतीय युवाओं के प्रेरणा के स्रोत है। स्वामी विवेकानन्द के विचार छात्र आज भी पढ़ते है। जो उनके नक्शे क़दम पर चलने के लिए प्रेरित करते है। स्वामी विवेकानन्द देश के युवाओं की ऊर्जा प्रसारित करने पर ध्यान केन्द्रित किया है। वे चाहते है कि युवा अपनी ऊर्जा को पहचाने और अपनी राय दे।

National Youth Day 2022 in Hindi

National Youth Day Theme 2022

भारत सरकार द्वारा हर वर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस पर एक नई थीम जारी की जाती है। विषय को देश में प्रासंगिक और समकालीन परिदृश्य के अनुसार चुना जाता है। इसमें एक थीम जोड़कर युवा दिवस रंगीन और सार्थक हो जाता है। यह देश के युवाओं को एक करने में मदद करता है। थीम रखना का मुख्य उद्देश्य देश के सभी युवाओं को एक साथ करना तथा स्वामी विवेकानंद जी के विचार का प्रचार करना है।

ये भी पढ़ेः- Women Marriage Age Act 2021 in Hindi | महिला की शादी की उम्र अब 18 से 21 वर्षः संसद ने दी हरी झंडी

राष्ट्रीय युवा दिवस थीम 2022 “Theme 2022: It’s all in the mind.” (राष्ट्रीय युवा दिवस थीम 2022: यह सब दिमाग में है।)

‘YUVAAH- Utsah Naye Bharat Ka’ 2021: ‘युवाः उत्साह नए भारत का’ रखा गया था।

Vivekananda swami ka janm kab hua tha (स्वामी विवेकानन्द का जन्म कब हुआ था?)

स्वामी विवेकानन्द जी का 12 जनवरी 1863 में कलकत्ता (अब कोलकाता) में हुआ था। वे वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थे। उनका वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था। उन्होंने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। इनकी मृत्यु 4 जुलाई 1902 (उम्र 39) में बेलूर मठ, बंगाल रियासत, ब्रिटिश राज (अब बेलूर, पश्चिम बंगाल में) में हुआ था।

FAQ’s

Q. राष्ट्रीय युवा दिवस कब मनाया जाता है और किसकी याद में मनाया जाता है ?

Ans : 12 जनवरी को मनाया जाता है, स्वामी विवेकानंद याद में मनाया जाता है।

Q. स्वामी विवेकानन्द का जन्म कब और कहां हुआ था?

Ans : स्वामी विवेकानन्द जी का 12 जनवरी 1863 में कलकत्ता (अब कोलकाता) में हुआ था।

ये भी पढ़ेः-

Merry Christmas 2021:top 10 wishes, greetings, SMS, messages

Sirisha Bandla Biography in hindi, Parents, Husband, सिरीशा बंदला की आत्मकथा

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,371FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles