International day of Peace 2021 in Hindi | विश्व शान्ति दिवस क्यों मनाया जाता है?

हर वर्ष 21 सितम्बर को विश्व शान्ति दिवस मनाया जाता है। विश्व शान्ति दिवस मनाने का उद्देश्य दुनिया भर में शान्ति और अमन को प्रसारित करना है। जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है। कि यह दिन शान्ति के लिए समर्पित है।

ये भी पढ़ेः- T20 World Cup 2021 | भारत ने किया टीम का एलान, शिखर टी20 वर्ल्ड कप से बाहर

International day of Peace 2021 in Hindi

International day of Peace 2021 हर वर्ष 21 सितम्बर को विश्व शान्ति दिवस (International day of Peace) दिवस मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य देश तथा दुनिया के लोगों के बीच प्यार बना रहे और साथ ही अंतर्राष्ट्रीय संघर्षों और झगड़ों पर विराम लगाना है।

International day of Peace History

विश्व शान्ति दिवस मनाने की शुरूआत 1981 से हुई। संयुक्त राष्ट्र ने इसे मनाने की घोषणा की, ताकि देश और दुनिया में शान्ति कायम रहे। इसी को देखते हुए ग्लोबल पीस इंडेक्स 2021 रैंकिंग निकाली जाती है। जिसे इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक्स एंड पीस (आईईपी) द्वारा तैयार किया जाता है। जो राष्ट्रों और क्षेत्रों की शांति की सापेक्ष स्थिति को मापती है। इस रैंक में 163 देश को शामिल किया जाता है। ग्लोबल पीस इंडेक्स 2021 रैंकिंग में पांच टॉप देश और स्कोर इस प्रकार है-

1. आइसलैंड 1.100
2. न्यूजीलैंड 1.253
3. डेनमार्क 1.256
4. पुर्तगाल 1.267
5. स्लोवेनिया 1.315

ग्लोबल पीस इंडेक्स 2021 रैंकिंग में भारत का स्थान 135वां स्थान है। ग्लोबल पीस इंडेक्स में भारत का स्थान अच्छा नहीं है। सबसे अन्तिम पांच देश अफगानिस्तान, यमन, सीरिया, दक्षिण सूडान और इराक सबसे कम शांतिपूर्ण रहे हैं।

विश्व शान्ति दिवस के प्रतीक के रूप में हर वर्ष सफेद कबूतर उड़ाया जाता है। क्योंकि सफेद कबूतर को शान्तिदूत माना जाता है।

International day of Peace
International day of Peace

International day of Peace 2021 Theme

हर वर्ष की तरह इस वर्ष की विश्व शान्ति दिवस 2021 की थीम (International day of Peace 2021 Theme) “एक न्यायसंगत और सतत दुनिया के लिए बेहतर पुनर्प्राप्त करना” (Recovering Better for an Equitable and Sustainable World)
हम आपको संयुक्त राष्ट्र परिवार के प्रयासों में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं क्योंकि हम एक अधिक न्यायसंगत और शांतिपूर्ण दुनिया के लिए बेहतर तरीके से ठीक होने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

विश्व शान्ति दिवस पर घंटी बजायी जाती है

संयुक्त राष्ट्र संघ अपनी बात लोगों तक पहुंचाने के लिए घंटी बजायी जाती है। हर क्षेत्र जैसे साहित्य, विज्ञान, कला और खेल जगत के प्रसिद्ध हस्तियों को शान्तिदूत चुना जाता है। संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय से घंटी बजाकर इसकी शुरुआत की जाती है।

भारत में शान्ति दिवस के मूल मंत्र

भारत ने शान्ति के लिए पांच मंत्र दिये गये है ये ये पंचशील के सिद्धांत के तौर पर जाने जाते हैं। भारत ने वसुधैव कुटुम्बकम्  की नीति अपनायी है। जिसका अर्थ है, धरती ही परिवार है (वसुधा एव कुटुम्बकम्)।

ये भी पढ़ेः-

Bhavina Patel Biography In Hindi | Parents, Husband, भाविना पटेल ने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में रचा इतिहास

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,333FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles