Happy Republic Day 2022: गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

Happy Republic Day 2022: गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व है। जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन भारत का संविधान पूर्ण रुप से लागू हुआ था। 1950 से पहले भारत शासन अधिनियम को हटाकर भारतीय संविधान को लागू किया गया था।

Read Also:- Kavita Bhabhi | कविता भाभी ने दिये ऐसे सीन्स रातों-रातों हुई फेमस

Happy Republic Day 2022 (गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं)

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रुप में मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस को संविधान दिवस भी कहा जाता है। देश में कानून राज्य स्थापित करने के लिए 26 नवम्बर 1949 को संविधान सभा ने पूर्ण बहुत के साथ संविधान को अपनाया है। इस दिन संविधान पूर्ण रुप से लागू नहीं किया गया था। क्यों कि 26 जनवरी का दिन चुनने के पीछे बहुत बड़ा कारण है।

क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आई० एन० सी०) ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था। यह भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है, अन्य दो स्‍वतन्त्रता दिवस और गांधी जयंती हैं।

History (इतिहास)

सन् 1929 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन पंडित जवाहर लाल नेहरू की अध्यक्षता में यह निर्णय लिया गया कि यदि भारत को 1930 तक डोमिनियन स्टेट का दर्जा प्रदान नहीं करेगा। जिससे भारत ब्रिटिश साम्राज्य स्वशासित इकाई बने जिससे भारत को पूर्ण स्वतंत्रता की घोषणा करें। लेकिन ब्रिटिश सरकार ने डोमिनियन स्टेट देने से मना कर दिया। जिससे आंदोलन सक्रिय हो गया। इस दिन से 1947 तक भारत अंग्रेजों के गुलाम रहा। 26 जनवरी 1930 से लेकर देश की आजादी तक 1947 तक 26 जनवरी तक स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता रहा है। भारत देश को आजादी 15 अगस्त 1947 को प्राप्त हुआ जिसके पश्चात 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया गया।

भारत के स्वतंत्र हो जाने के बाद संविधान सभा का गठन किया गया। संविधान सभा ने अपना कार्य 9 दिसम्बर 1947 से शुरु किया। संविधान सभा के अस्थायी अध्यक्ष सच्चिदानंद सिन्हा  को बनाया गया। उसके बाद 11 दिसम्बर 1947 को डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष बनाया गया। संविधान बनाने के लिए कई समिति बनायी गयी। जिसमें डॉ० भीमराव अम्बेडकर, जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे। संविधान निर्माण में कुल 22 समितियाँ थी।

जिसमें प्रारुप समिति काफी महत्व पूर्ण थी, जिसके अध्यक्ष डॉ० भीमराव अम्बेडकर जी थे। प्रारूप समिति सबसे महत्वपूर्ण समिति थी। संविधान बनने में 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन लगे थे। और इस समिति का कार्य संपूर्ण ‘संविधान लिखना’ या ‘निर्माण करना’ था। 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र प्रसाद को सौंपा गया था। और 26 नवम्बर को प्रति वर्ष संविधान दिवस घोषित किया गया।

संविधान सभा की संविधान निर्माण की कुल 114 बैठक हुई थी। जिसमें प्रेस और जनता को भाग लेनी स्वतंत्रता थी। अनेक सुधारों और बदलावों के बाद सभा के 289 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 को संविधान की दो हस्तलिखित कॉपियों पर हस्ताक्षर किये। और दो दिन बाद यानि 26 जनवरी 1950 को इस पूरे देश में लागू किया। संविधान की मर्यादा बनाने रखने के लिए हर वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। जैसा कि आप जानते है 15 अगस्त 1947 को हजारों कैदी और अंग्रेजों की दासता से मुक्ति मिली थी।

26 जनवरी 1950 को हमारे देश में भारतीय शासन और कानून व्यवस्था लागू हुई। भाइयो-बहनो, इस आजादी को पाने में अपने देश की हजारों माताओं की गोद मिट गई थी, हजारों बहन-बेटियों की मांग का सिंदूर मिटा दिया गया था, तो कहीं न कहीं इस महान बलिदान के बाद देश आजाद हो सका।

26 जनवरी 2022 के मुख्य अतिथि (26 January 2022 Chief Guest)

26 जनवरी 2022 को गणतंत्र दिवस के मौके पर छपी मुख्य अतिथि की खबरों पर विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि अंग्रेजी न्यू़ज पेपर में छपी खबर निराधार है। सूत्रों के मुताबिक रिपोर्ट में कहा गया था कि गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के लिए भारत ने BIMSTEC देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ संपर्क किया है।

BIMSTEC यानि Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral Technical and Economic Cooperation नाम के संगठन में भारत के अलावा 6 और देश शामिल हैं। इनमें भारत के अलावा बांग्लादेश, भूटान, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका तथा थाईलैंड हैं। BIMSTEC देशों में विश्व की 1.5 अरब जनसंख्या

गणतंत्र दिवस समारोह

26 जनवरी को भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारतीय राष्ट्र ध्वज को फहराया जाता है। इसके बाद सामूहिक रुप से खड़े होकर राष्ट्र गान गाया जाता है। फिर तिरंगे को सैलूट किया जाता है। गणतंत्र दिवस को खास बनाने के लिए सेना द्वारा राजपथ पर भव्य परैड, इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक निकाला जाता है। इस भव्य परेड में भारतीय सेना के विभिन्न रेजिमेंट, वायुसेना, नौसेना आदि सभी भाग लेते हैं।

Happy Republic Day 2022
Happy Republic Day 2022

यह दिवस दिल्ली से लेकर पूरे भारत में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। इसमें भाग लेने के लिए देश के विभिन्न कलेक्टर, स्कूल और विद्यालय के छात्र भाग लेते है। परेड की शुरुआत करते हुए, प्रधान मंत्री राजपथ के एक छोर पर इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति (सैनिकों के लिए एक स्मारक) पर फूलों की माला डालते हैं। सके बाद शहीद सैनिकों की स्मृति में दो मिनट मौन रखा जाता है। 

FAQ’s

Q. गणतंत्र दिवस कब मनाया जाता है?

Ans : पूरे भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।

Q. 26 जनवरी 2022 के मुख्य अतिथि कौन हैं?

Ans : गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के लिए BIMSTEC देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ संपर्क किया है।

Read Also:-

National Voters day 2022: जानिए क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय मतदाता दिवस

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti in Hindi | नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती विशेष

Sirisha Bandla Biography in hindi, Parents, Husband, सिरीशा बंदला की आत्मकथा

Experienced Content Writer with a demonstrated history of working in the education management industry. Skilled in Analytical Skills, Hindi, Web Content Writing, Strategy, and Training. Strong media and communication professional with a B.sc Maths focused in Communication and Media Studies from Dr. Ram Manohar Lohia Awadh University, Faizabad.

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles