Sunday, November 28, 2021

किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021 । कौन करेगा टेस्ट विश्व कप चैंपियन की मेज़बानी । ICC Test Championship 2021 ke Final ki mejbani kaun sa desh karega

किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021। क्रिकेट प्रेमियों के लिए खुश ख़बरी एक बार फिर कोरोना काल में आ गयी है। IPL को कोरोना के कारण बीच में ही रोकना पड़ गया था। जिससे क्रिकेट प्रेमी के मन में एक उदासी सी आ गयी थी, कोविड काल में घर में बैठकर समय नहीं बीत रहा था। लेकिन कोविड काल में एक बार फिर अपने क्रिकेट प्रेमियों के दिल में जगह बनाने आ रहा है, टेस्ट विश्व कप चैम्पियनस् का पहला खिताब 18 जून से 22 जून के बीच लन्दन में भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच खेला जायेगा। पहला टेस्ट विश्व कप का मैच यूनाइटेड किंगडम के साउथैम्पटन स्टेडियम में खेला जायेगा।

टेस्ट क्रिकेट के बारे में पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े। इस पोस्ट में आप के हर सवाल का जबाव देने की कोशिश की जायेगी।

आईसीसी टेस्ट विश्व चैंपियन का यह पहला संस्करण है, जो अगस्त 2019 से जून 2021 तक खेले गये। इसकी शुरुआत 1 अगस्त 2019 से पहले टेस्ट मैच की शुरुआत हुआ। यह पहला टेस्ट विश्व कप चैम्पियन टूर्नामेंट है, जो यूनाइटड किंगडम में खेला जायेगा।

किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021
किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021

टेस्ट विश्व कप का पहला मैच भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच खेला जायेगा, यह मुकाबला यूनाइटेड किंगडम के साउथैम्पटन स्टेडियम में खेला जायेगा। जहाँ एक तरफ भारत के बेस्ट बल्लेबाज और सबसे सफल कप्तान विराट कोहली है और दूसरी तरफ न्यूजीलैंड के महान कप्तान और बल्लेबाज एक दूसरे के आमने-सामने होगें। पूरी दुनिया की नजरें इन दोनों पर टिकी हैं।

टेस्ट चैम्पियनशिप कितना अहम है?

टी20 के चलते टेस्ट मैच से दूर होते जा रहे है, खिलाड़ी इसी को देखते हुए खिलाड़ियों के टेस्ट के प्रति दिलचस्प को बढ़ाने के लिए 2019 को घोषणा की गयी कि 1 अगस्त 2019 से टेस्ट विश्व कप खेला जायेगा। टेस्ट विश्व कप का प्रस्ताव बहुत पहले दिया गया था किन्तु इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया। हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वह टेस्ट क्रिकेट जरूर खेले। ऐसे में जब टेस्ट चैम्पियनशिप लाया गया , तो हर खिलाड़ी इस टेस्ट विश्व कप का हिस्सा बनना चाहता है। टेस्ट चैम्पियन में रैकिंग के हिसाब से टॉप -9 टीमों को जगह दी गयी थी। जिसमें प्रत्येक टीमों को 6 अलग-अलग टीमों के साथ एक समय अन्तराल पर सीरीज खेलनी थी और उसी के आधार पर टेस्ट रैंक तैयार की जायेगी इसी रैंक को देख कर फाइनल लिस्ट तैयार की जायेगी।

टेस्ट विश्व कप का सफर

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 2020 में पहली बार टेस्ट विश्व कप चैम्पियनशिप के लिए प्रस्ताव रखा और 2013 से 2017 के बीच पहला टेस्ट विश्व कप कराने की घोषणा की , किन्तु कुछ कारणों से इसे निरस्त करना पड़ गया। जनवरी 2019 में टेस्ट विश्व कप कराने की घोषणा की , उसके बाद अगस्त 2019 से टेस्ट चैम्पियन की शुरूआत की गयी। दो साल के दैरान कुल 9 टीमों ने कुल 23 सीरीज खेली।

प्रत्येक टीमों के 6 सीरीज खेलने का मौका दिया गया था जिसमें 3 सीरीज घरेलू मैदान पर और 3 सीरीज विदेशी सरज़मी पर खेलने का मौका दिया गया था। दो वर्षों के बाद जो दो टीमें रैंकिंग में टॉप पर रहेंगी, उनके बीच फाइनल मैच खेला जायेगा। जिन 9 टीमों का चयन किया गया था वे इस प्रकार हैंः- ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड़, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, साउथ अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टंइडीज टीमें शामिल थी। एक टीम को 6 सीरीज खेलनी थी. फिर वह चाहे 2 मैचों की हो या 5 मैचों की हो।

टॉप टीमों के प्वाइंट सिस्टम के आधार पर फाइनल मैचों में जगह दी जायेगी। टेस्ट चैम्पियनशिप में पिंक बॉल यानि डे-नाइट टेस्ट चैम्पियनशिप को शामिल किया गया। यह टेस्ट चैम्पियनशिप दो वर्षों तक चली।

किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021
किसके सिर पर लगेगा टेस्ट विश्व कप का ताज 2021

हर टीमों को कम से कम 6 सीरीज खेलनी थी जिसमें कम से कम 2 मैचों की एक सीरीज होनी थी, तथा अधिकतम 5 मैचों की सीरीज होनी थी। दो मैचों की सीरीज में , एक की जीत पर 60 अंक , तीन मैचों की सीरीज में, एक जीत पर 40 अंक, 4 मैचों की सीरीज में, एक मैचों की जीत पर, 30 अंक और 5 मैचों की सीरीज में, एक जीत पर 24 अंक दिया जायेगा।

यदि मैच टाई होगा तो दोनों टीमों को बराबर अंक दिये जायेेगें और यदि मैच ड़्रॉ होने की स्थिति में टेस्ट के कुल अंक का एक-तिहाई दोनों टीमों में बांट दिया जायेंगा।

कोविड-19 महामारी के कारण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) एक बड़ा बदलाव किया है। आईसीसी ने कहा हेै कि कुछ टीमें कोविड महामारी के चलते मैच खेल नहीं हो सका , जिसके कारण प्वाइंट सिस्टम में कुछ बदलाव की घोषणा की, अब जीत के अंकों का प्रतिशत निकाला जायेगा और रैंकिंग का आकलन पर्सेंटेज ऑफ पॉइंट्स (POP) के आधार पर किया गया।

टेस्ट क्रिकेट का 2 साल का सफर कैसा रहा?

कोरोना वाइरस की शुरआत के कुछ समय पहले टेस्ट क्रिकेट की शुरूआत की हो चुकी थी, 1 अगस्त 2019 को इंग्लैंड के बर्मिंघम में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट चैम्पियन मैचों की शुरुआत की गयी। इस टेस्ट चैम्पियनशिप में कुल 9 टीमों ने हिस्सा लिया, इंग्लैंड सबसे ज्यादा 21 मैच खेले। भारत 17 मैच खेलकर दूसरे स्थान पर रहा। ऑस्ट्रेलिया 14 मैच खेलकर तीसरे स्थान पर रही।

प्वाइंट टेबल में सबसे ऊपर भारत का है, भारत ने 72.2 प्रतिशत अंक हासिल किया , प्वाइंट टेबल पर दूसरे स्थान पर न्यूजीलैंड 70.0 प्रतिशक अंक हासिल किये। इसी के आधार पर 18 जून 2021 से भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथैम्पटन में 144 वर्ष बाद पहली बार टेस्ट विश्व कप खेला जायेगा।

Covid 19 vaccine in india कोरोना वायरस क्या है?Corona Vaccine in

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles