Sunday, November 28, 2021

Covid 19 vaccine in india, कोरोना वायरस क्या है? Corona Vaccine in Hindi

Covid 19 vaccine in india आइये जानते है इस पोस्ट में कोरोना वैक्सीन के बारे में और कोरोना वायरस की पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।, कोरोना वायरस क्या हैः- कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर के  सीफ़ूड और पोल्ट्री बाजार से शुरू हुआ। शुरूआत में इसका नाम नॉवल कोरोना वायरस रखा गया था,

Covid 19 vaccine in india
Covid 19 vaccine in india

लेकिन पहले भी इस नाम की बीमारी थी जिसका नाम नॉवल कोरोना रखा गया था।। किन्तु यह बीमारी पहले की बीमारी से ज्यादा खतरनाक थी। इसीलिए इसका नाम COVID रखा गया लेकिन यह वर्ष 2019 में शुरू हुआ इसीलिए इसका नाम COVID-19 रखा गया COVID वायरस का नाम था और 19 वर्ष को दर्शाता है। COVID-19 का पूरा नाम Coronavirus Disease-2019 रखा गया इसका यह नाम डब्लूएचओ (WHO) द्वारा दिया गया है।

वायरस की पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

इतिहास

Covid 19

कोरोना की शुरुआत नवम्बर 2019 को चीन के वुहान शहर से शुरु हुआ, लोग अचानक निमोनिया के शिकार होने लगे। यह बीमारी वुहान के मछली बाजार और पशु बाजार में सबसे पहले देखा गया। यह वायरस वहां के लोगों में तेजी से फैलने लगा। चीनी वैज्ञानिकों ने देखा कि इससे वही लोग नहीं प्रभावित थे जो लोग मछली बाजार या पशु बाजार में काम करते है अपितु वो लोग भी प्रभावित थे जो इन लोगों के सम्पर्क में आये थे।

कोरोना महामारी जो नवम्बर 2019 में चीन से शुरू हुई थी 2020 के आते- आते यह पूरे विश्व में फैल गयी।

Covid 19 vaccine in india कोरोना वायरस क्या है?:-कोरोना वायरस की शुरूआत पहली बार 1960 में हुई थी, इसका नाम कोरोना, Crown (ताज़) के तर्ज पर रखा गया था। क्योंकि इसका आकार कोन (Cone) जैसा होता है। इसे टेलीस्कोप से देखने पर राजा के ताज़ जैसा दिखायी देता है।

भारत में पहला कोरोना का केस केरल राज्य में आया। तथा पहली कोरोना से मृत्यु कर्नाटक राज्य में हुआ। भारत में 2021 तक लगभग 11.4 मिलियन लोग प्रभावित हुए जिसमें से 10.8 मिलियन लोग स्वस्थ्य हुए तथा 157 हजार लोगों की मृत्यु हुई।

Covid 19 vaccine in india पूरे विश्व में सबसे ज्यादा मृत्यु अमेरिका में हुई, पूरे विश्व में अब तक 114 मिलियन लोग इससे प्रभावित हुए जिसमें से 2.54 मिलियन लोगों की मृत्यु हो गयी। जब यह बीमारी धीरे-धीरे पूरे विश्व में फैलने लगी, तो पूरी विश्व की चिन्ताएं बढ़ने लगी थी।

23 जनवरी 2020 को डब्लूएचओ ने स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया विश्व स्वास्थ्य संगठन चेतावनी दे चुका था। इससे देश की चिन्ताएं बढ़ती जा रही थी। आपात काल घोषित होने के बाद विश्व के सभी देशों ने विदेशी यात्रा को रोका, हवाई जहाज सेवाएं पर रोक लगा दी गयी। विश्व में सारे देशों ने लॉकडाउन लगा दिया।

Covid 19 vaccine in india भारत में लॉकडाउन 22 मार्च 2020 को लगाया गया था, जिसे जनता कर्फ्यू नाम दिया गया। किन्तु भारत में पूरी तरह से 25 मार्च 2020 को 15 दिनों के लिए लॉकडाउन लगाया गया था, इसे 15-15 दिन करके लगभग 4 महीने तक लगाया था।

फैलने का कारण

Covid 19 vaccine in india कहा जा रहा है कि मुख्यता यह सबसे पहले चमगादड़ में पाया गया था। इसके कुछ लक्षण चमगादड़ में भी पाये गये थे। लेकिन यह कहना गलत नहीं है कि कोरोना वायरस अन्य जीव से भी फैल सकता है। जैसे मुर्गी , खरगोश, विषैले सांपों, चित्तीदार हिरणों, मर्मोट्स, और विषैले सांपों से भी फैल सकता है।

Covid 19 vaccine in india
Covid 19 vaccine in india

Covid 19 vaccine in india जब लोग इन जानवारों के सम्पर्क में आते है। तो यह वायरस लोगों के अन्दर प्रवेश कर जाता है। इसी प्रकार यह लोगों के बीच फैलता गया। 25 जनवरी 2020 तक यह लोगों के माध्यम से पूरी दुनिया में फैल गया। सबसे ज्यादा यूरोपियन देश और अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। जब यह लोगों के बीच फैलता है तो यह एक चैन बना लेती है और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैल जाता है।

Covid-19 लक्षण

Covid 19 vaccine in india कोरोना के लक्षण किसी- किसी व्यक्ति में 7 दिन से 14 दिन बाद लक्षण दिखायी देता है। कभी-कभी किसी व्यक्ति में यह लक्षण 21 दिनों बाद भी दिखायी देता है। किसी व्यक्ति में लक्षण नहीं दिखायी देता है ऐसा नहीं है कि कोरोना नहीं हो सकता है। कोरोना के प्रमुख लक्षण इस प्रकार है।

  • खासी आना,
  • छीक का आना,
  • बुखार आना,
  • जुखान का होना,
  • शरीर का तापमान बढ़ाना,
  • सांस लेना में परेशानी होना
  • थकान लगना,

Covid 19 vaccine in india बचाव व सावधानियाँ

Covid 19 vaccine in india डब्लूएचओ और भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मिलकर एक दिशा निर्देश जारी किया है।

जो व्यक्ति इस रोग से पीड़ित है, वो दूसरे लोगों के सम्पर्क में ना आये।

अगर आप बाहर जाते है तो हाथ को साबून से अच्छी तरह से धुले।

बार-बार मुहँ, नाक और को ना छुए।

एक दूसरे से दूरी बनाकर रखे। और इस टैग लाइन का पालन करे “दो गज़ की दूरी, मास्क है जरूरी”

किसी सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचें।

मास्क का प्रयोग करे, एक बार मास्क का प्रयोग करने के बाद उसे कूड़ा दान में डाल दे या जला दे।

सफाई

इस बीमारी को खत्म करने के लिए सफाई बहुत जरूरी है।

अगर आप बाहर से आते है तो हाथ, पैर,और मुहँ को साबून से धूले। कम से कम 20 सेकेंड हाथ को साबून से धुले।

मास्क का प्रयोग सही तरीके से करे।

हैंड सैनिटाइज़र का प्रयोग करे। जिसमें कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल की मात्रा होनी चाहिए।

ख़ासते, छीकते समय नाक, और मुहँ को कपड़े से ढके।

बाहर बने खाद्य पदार्थो का सेवन ना करे।

वैक्सीन Covid 19 vaccine in india

कोरोना वायरस क्या हैः- कोरोना की शुरूआत नवम्बर 2019 से चीन के वुहान शहर से हुई थी, इस समय किसी देश के पास इसकी कोई दवा नहीं थी।

Covid 19 vaccine in india
Covid 19 vaccine in india

अब पूरे विश्व से वैज्ञानिकों के लिए एक चुनौती थी, जहाँ कोरोना पूरे विश्व में तेजी से फैल रहा था। वही दूसरी ओर इसके लिए कोई दवा या वैक्सीन नहीं थी यह वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के लिए चिन्ता का विषय बनता जा रहा था।

वैज्ञानिकों के अथक प्रयास के बाद विश्व के वैज्ञानिकों ने वैक्सीन बनाने में सफला प्राप्त की। वैक्सीन का तीन चरणों में टेस्टिंग की गयी। पहले चरण में लगभग 500 लोगों पर टेस्ट किया, दूसरे चरण में लगभग 10000 लोगों पर टेस्ट किया तथा तीसरे चरण में लगभग 36000 लोगों पर टेस्ट किया गया।

Covid 19 vaccines के प्रमुख वैक्सीन कम्पनियों के नाम

मॉडर्ना वैक्सीन

Corona Vaccine in Hindi:- यह वैक्सीन MRNA तकनीक से बनायी गयी है। इस वैक्सीन से शरीर में एंटीवॉडिज़् (Antibodies) का निर्माण हो जायेगा। इस वैक्सीन की दो खुराक दी जायेगी, पहली खुराक देने 28 दिन बाद दूसरी खुराक दी जायेगी। इस वैक्सीन को (-20) डिग्री तापमान पर छः माह तक सुरक्षित रखा जा सकता है। यह वैक्सीन 94.2 प्रतिशत प्रभावी है। इसे अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन जैसे यूरोपियन संघ ने मंजूरी दे दी है।

Covid 19 vaccine in india फाइज़र-बायोएनटेक वैक्सीन

मॉडर्ना की तरह यह भी एमआरएनए तकनीक पर आधारित है। यह वैक्सीन 95 प्रतिशत कामगार है। इस वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण पूरा हो चुका है। इसे अमेरिका, भारत, ब्राजीन, कुवैत, सउदी अरब, ब्रिटेन, स्विट्जरलैंड, बहरीन, चिली, अर्जेंटीना, इक्वाडोर जैस अनेक देश इसकी मंजूरी दे चुके है। इसकी पहली खुराक देने का 21 दिनोॆ के अन्दर दूसरी खुराक दी जायेगी। इसे लगभग (-75) डिग्री तापमान पर सुरक्षित रखा जा सकता है।

ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका वैक्सीन

यह एक वायरल वेक्टर तकनीक पर आधारित वैक्सीन है, इस ऑक्सफोर्ड और भारत की सीरम कम्पनी द्वारा विकसित की गयी है। यह शरीर में प्रोटीन विकसित करेगा जिससे वायरस से लड़ने की शक्ति मिलेगी। यह 75 प्रतिशत प्रभावी है। इसे 2से 8 डिग्री तापमान पर सुरक्षित रखा जा सकता है। इस भारत, अमेरिका, अर्जेंटीना, मेक्सिकों में इस्तेमाल की मंजूरी मिल गयी है। इसकी भी दो खुराक दी जायेगी, पहली खुराक देने के 28 दिन बाद दूसरी खुराक दी जायेगी।

को-वैक्सीन

यह भारत द्वारा निर्मित स्वदेशी वैक्सीन है। Covid 19 vaccine in india भारत ने 1 मार्च से देश में दूसरे चरण में वैक्सीन लगाने की मंजूरी दी गयी है। कहा जा रहा है जो व्यक्ति 50 वर्ष या इससे ऊपर है उन्हें वैक्सीन की खुराक पहले दी जायेगी। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मी, तथा अन्य कर्मचारियों को दी गयी थी। जो कोरोना काल में भी अपने कार्य में लगे रहे।

Covid 19 vaccine लगाने का तरीका

वैक्सीन को शरीर के मांसपेसियों में ही लगवाये, अन्य किसी स्थान या वेन्स में न लगवाये। वैक्सीन को उसी सेन्टर पर लगवाये जो भारत सरकार द्वारा बनाया गया हो। किसी जानकार डॉक्टर या नर्स से ही लगवाये, जिसे इसका प्रशिक्षण दिया गया हो।

कहाँ पर लगवाये

वैक्सीन को भारत सरकार द्वारा निर्धारित केन्द्र पर जाकर लगवाये। भारत सरकार द्वारा राज्य में कम से कम 10000 सरकारी और निजी अस्पतालों को चुना गया है। Covid 19 vaccine in india वैक्सीन लगवाने से पहले यह देख ले की आप जिस सेन्टर पर गये है, वह सेन्टर भारत सरकार द्वारा सत्यपित है या नहीं। भारत सरकार द्वारा निर्देश प्रदान किया गया है कि सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन फ्री में लगयी जायेगी। प्रत्येक सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन की दो खुराक दी जायेगी।

भारत सरकार ने निजी अस्पताल को भी कोरोना वैक्सीन लगाने के दिशा निर्देश दिया गया। निजी अस्पतालों यह वैक्सीन फ्री नहीं है। प्रत्येक खुराक के लिए भारत सरकार ने 250 रूपये निर्धारित किया है। यदि कोई अस्पताल इससे अधिक रूपया लेते हुए पकड़ा गया तो उस अस्पताल का लाइसंस भी रद्द हो सकता है।

सरकार की गाईडलाइन Covid 19 के लिए

भारत सरकार ने तीन चरणों में वैक्सीन देने की बात की है। पहले चरण में लगभग 30 करोड़ लोगों को दिया जायेगा, जिसमें डॉक्टर्स, नर्सज, मेडिकल ऑफिसर, पैरामेडिकल स्टाफ , सपोर्ट स्टाप, मेडिकल स्टूडेंट्स, साइंटिस्ट और रिसर्च स्टाफ को दिया जायेगा।

इसके बाद सुरक्षा दल जैसा- आर्मी, एयरफोर्स, नेवी, और कोस्ट गार्ड को वैक्सीन की खुराक दी जायेगी। अन्य सुरक्षा जवान जैसे- म्युनिसिपल वर्कर्स और स्टेट पुलिस।

इसके बाद 50 वर्ष या इससे ऊपर की उम्र के बुजुर्ग लोगों को शामिल किया जायेगा। उम्र की गणना चुनावी क्षेत्र की मतदाता सूचियों में 1 जनवरी 1971 से पहले जन्मे हुए लोगों को शामिल किया जायेगा।

उन लोगो को भी दी जायेगी जो लोग 50 वर्ष की उम्र से कम है लेकिन किसी रोग जनक परिस्थिति जैसे डायबिटीज, हाइपरटेंशन, केन्सर, फेफड़ों के रोग इत्यादि जान लेवा बीमारी से पीड़ित है।

Covid 19 vaccine वैक्सीन के लाभ

वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत के बाद वैक्सीन को तीन फेज अर्थात् तीन चरणों में इसका परीक्षण किया गया।

Covid 19 vaccine in india
Covid 19 vaccine in india

जो लोग कोरोना वायरस से पीडि़त है उन लोगों को खास कर वैक्सीन लगवानी चाहिए। वैक्सीन लगवाने से शरीर में एंटीवॉडिज् का निर्माण होगा। इससे कोरोना वायरस से लड़ने में शक्ति मिलेगी। लोगो को टीका लगाकर कोरोना से सुरक्षा दी जा सकती है।

इससे भारत में कोरोना के मरीज़ की संख्या में कमी आयेगी।

हानियाँ

टीका लगवाते समय थोड़ सा दर्द हो सकता है, लाल धब्बे पड़ सकते है। हल्का बुखार आ सकता है।

Covid 19 vaccine se सावधानियाँ

Covid 19 vaccine in india वैक्सीन लगवाने से पहले डॉक्टर से सलह जरूर ले। गर्भवाती महिला वैक्सीन न लगवाये, जब तक किसी डॉक्टर से परामर्श न ले। जो लोग स्वास्थ्य है।

वैक्सीन सरकार द्वारा निर्धारित केन्द्र से ही लगवाये। तथा जालसाजों से बचे।

Covid 19 vaccine in india वैक्सीन लग जाने के बाद भी मास्क का प्रयोग करे तथा लोगों से दूरी बना कर रखे। बार-बार साबून से हाथ को साफ करे। जिससे वायरस पुनः न फैले

Gram Panchayat Chunav List| उत्तर प्रदेश सरकार ने जारी की गयी आरक्षण लिस्ट

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

22,342FansLike
3,029FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles